क्या शव जलाने के बाद खत्म हो जाता है कोरोना वायरस, जानें

कोरोना संक्रमित व्यक्ति की मौत होने के बाद वायरस फैलने को लेकर इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के फाॅरेंसिक मेडिशियन विभाग के प्रो. पियूष कपिला ने भ्रांतियों को गलत बताया है। आपको बता दें की उनका कहना है कि कोरोना के कारण मृत्यु होने पर शव में 72 घंटे तक कोरोना वायरस रहता है। कई जगह लोग दाह संस्कार से पहले मृतक का मुंह देखना चाहते हैं। मुंह की तरफ से बैग की जिप को थोड़ा नीचे खींचने के बाद मुंह देख सकते हैं। ऐसा करने से कोरोना वायरस नहीं फैल सकता है।

मिली जानकारी के अनुसार यहां पर आरसीएमआर के साफ दिशा-निर्देश हैं कि कोरोना संक्रमित की मौत के बाद पोस्टमाटर्म करवाना जरूरी नहीं है। श्मशान घाट में शव छह से सात हजार डिग्री सेल्सियस तापमान में जलता है। इतने अधिक तापमान में कोरोना वायरस फैलने का सवाल ही नहीं उठता। कोरोना वायरस 70 से 75 डिग्री सेल्सियस तापमान में खत्म हो जाता है। इसलिए शव से संक्रमण फैलने की अफवाह न फैलाएं और न ही चिकित्सा विज्ञान में इसका कोई प्रमाण है।

error: Content is protected !!