कांगड़ा से बिहार जा रही बस ऊना में जब्त, आरटीओ ने चालान काट कर प्रशासन को भेजा मामला

आरटीओ ऊना ने कांगड़ा से बिहार जा रही एक बस को पकड़ा है। उक्त बस में सवार यात्रियों का न ही कोई कोरोना कर्फ्यू पास बना था और बस पूरी भरी थी।

हालांकि बस चालक ने आरटीओ धर्मशाला से परमिट ले रखा था, लेकिन एक ही परमट पर यह उसका तीसरा चक्कर था।

ऐसे में मुस्तैद आरटीओ ऊना ने उसे ऊना में दबोच लिया। आरटीओ ऊना ने मोटर व्हीकल एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है।

वहीं, डिजास्टर एक्ट के तहत मामला होने के चलते मामले को जिला प्रशासन के पास भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार बस चालक बस में कांगड़ा, बडूही व धुसाड़ा से प्रवासियों को बिहार लेकर जाया जा रहा था। 24 सीटर बस में 24 सवारियां बैठी हुई थी।

बस चालक व सवारियों द्वारा कोविड नियमों की पूरी तरह से अवहेलना की गई है।चालक ने प्रति सवारी से दो हजार रुपए वसूल किए हैं।

बस चालक का कहना है कि उसने आरटीओ धर्मशाला से प्रवासियों को बिहार पहुंचाने के लिए कांगड़ा से बिहार के लिए एक परमिट ले रखा, लेकिन कांगड़ा व ऊना प्रशासन सहित अन्य राज्यों के प्रशासन की आंखों में धुल झोंकते हुए वह इससे पहले दो चक्कर लगा चुका था ओर यह उसका तीसरा चक्कर था।

आरटीओ ऊना ने बस चालक का चालान काट कार्रवाई आरंभ की है। वहीं , मामले को जिला प्रशासन के सुपुर्द किया गया है। अब जिला प्रशासन ही आगामी कार्रवाई अमल में लाएगा।

उधर, आरटीओ ऊना आरसी कटोच ने बताया कि बस में सवार सवारियों के पास कोई कोरोना कर्फ्यू पास नहीं था। बस चालक के पास भी कोई परमिट नहीं था। हालांकि उसने परमिट ले रखा था, लेकिन उसका यह तीसरा चक्कर था।

error: Content is protected !!