Jharakhand Crime: संपति के लालच में बड़े भाई ने बेटों के साथ मिलकर ली छोटे दिव्यांग भाई की जान

झारखंड के गिरिडीह (Jharkhand Giridih) जिले में मानवता का शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी है. जिले के धनवार में संपत्ति विवाद में दिव्यांग भाई (Handicapped Brother ) की हत्या हुई है.

यहां बड़े भाई ने अपने बेटों के साथ मिलकर छोटे भाई की बेरहमी से पीट-पीटकर जान ले ली है. कत्ल के बाद सभी आरोपी फरार हैं. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस शव को कब्जे में लेकर आरोपियों की तलाश में जुट गई है.

जिले के धनवार थाना अंतर्गत नायकडीह में 27 नवंबर की शाम को बड़े भाई व भतीजे ने मिलकर एक दिव्यांग को पीट-पीट कर मार डाला. पूरी घटना सीसीटीवी में कैद है. मृतक दिव्यांग की पहचान पिंटू यादव के रूप में हुई है. मारपीट में बीच-बचाव करने वाले मृतक का मंझला भाई दिनेश यादव भी जख्मी है.

संपत्ति बंटवारे को लेकर चल रहा था विवाद

असल दिव्यांग पिंटू यादव का उसके बड़े भाई जयदेव के साथ संपत्ति बंटवारे को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा था. इसी बात को लेकर शनिवार ( 27 नवंबर) को दोनों के बीच विवाद बढ़ गया और बात हाथापाई तक आ गई, धीरे-धीरे मामला इतना संगीन हो गया कि बड़े भाई जयदेव यादव ने बेटे के साथ मिलकर अपने सगे छोटे भाई पिंटू यादव की बेरहमी से पिटाई कर दी. जिसमें उसकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई. इस घटना में पिंटू की भाभी बसंती देवी और भाई दिनेश भी जख्मी हो गया है.

घर में बंद कर हत्या कर दी

घटना के बारे में चश्मदीद गवाह दिनेश यादव ने बताया कि संपत्ति को लेकर बड़े भाई जयदेव यादव और छोटे भाई पिंटू यादव में विवाद इतना बढ़ गया कि मारपीट की नौबत आ गई. मृतक दिव्यांग की पिटाई बड़े भाई जयदेव यादव, भतीजा अंकित यादव और बबलू यादव ने घर बंद कर की. डर के मारे पिंटू किसी तरह घर से चिल्लाता हुआ बाहर निकला, लेकिन हत्यारों ने घर के सामने सरेआम पीट-पीट कर हत्या कर दी. मामले की सूचना पाकर धनवार थाना प्रभारी अश्विनी कुमार घटना स्थल पर पहुंचे और शव को कब्जे में ले लिया. सभी हत्यारे फरार हैं. मृतक ने घर में सीसीटीवी लगा रखा था, जिसमें पूरा मामला कैद है. पुलिस हत्यारे की तलाश में छापेमारी कर रही है. मारपीट और हत्या की इस पूरी वारदात का लाइव वीडियो किसी ने अपने मोबाइल में कैद कर लिया. जिसके बाद ये जिले में तेजी से वायरल हो रहा है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!