नरेंद्र गिरि केस में CBI के हाथ लगा अहम् सबूत, कोर्ट में आज किया जा सकता है पेश

प्रयागराज: अखाड़ा परिषद के पूर्व अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की रहस्यमय हालात में मृत्यु का राज खुलने की उम्मीदें वापस से जगती हुई नज़र आ रही है।

दरअसल CBI के हाथों एक ऑडियो क्लिप लग चुकी है जो इस केस के खुलासे में महत्वपूर्ण सबूत सिद्ध होगी। वहीँ इस बात का पता चला है कि इस क्लिप में आनंद गिरि की आवाज है और इसी की पुष्टि के लिए CBI ने उसके वॉइस सैंपल लेने की कोर्ट से मंज़ूरी लेने की जरूरत है। आवाज आनंद गिरि की है या नहीं इस केस पर आज सुनवाई की जाने वाली है।

अब तक मिली जानकारी के अनुसार वॉइस सैंपल लेने का मतलब है कि CBI के हाथ कोई ऑडियो क्लिप लग चुकी है, जिसमें आनंद गिरि की आवाज होने की आशंका है। यही कारण है कि उस क्लिप में सुनाई दे रही और आनंद गिरि की आवाज की मैचिंग कराए जाने का फैसला किया जाने वाला है। एक आशंका में कहा जा रहा है कि ऑडियो क्लिप फोन पर हुई किसी वार्तालाप की हो। जिसमें महंत से जुड़ी कोई ऐसी बात की गई हो जो उनकी मौत के केस के खुलासे में बहुत ही महत्वपूर्ण रोल अदा कर सकती हो।

आनंद गिरि की आवाज के नमूने की अर्जी पर सुनवाई आज: महंत नरेंद्र गिरि को सुसाइड के लिए उकसाने के इलज़ाम में जेल की सजा काट रहे आनंद गिरि की आवाज के नमूने का परीक्षण कराने की CBI की अर्जी पर सुनवाई के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरेंद्र नाथ ने 12 नवंबर यानी कि आज कि तिथि नियत की है। अदालत ने बोला है कि 12 नवंबर को आनंद गिरि सहित तीनों आरोपितों की न्यायिक अभिरक्षा भी खत्म हो है। न्यायिक अभिरक्षा और आवाज परीक्षण नमूने की अर्जी दोनों की एक साथ सुनवाई की जाने वाली है। केस की विवेचना कर रहे CBI के अधिकारी केएस नेगी ने CJM की अदालत में अर्जी दाखिल कर नरेंद्र गिरि की मृत्यु के केस में सच्चाई को सामने लाने के लिए आनंद गिरि की आवाज का नमूना लिए जाने की अनुमति मांगी है।

error: Content is protected !!