नाचन में भ्रष्टाचार; टेंडर होगा 19 जनवरी को और सड़क की टायरिंग हो गई दिसम्बर में

हिमाचल के नाचन के लोग कई सालों से सड़कों की टायरिंग के लिए तरस रहे है और लोक निर्माण विभाग के अधिकारी बजट का रोना रो कर काम को टालते जा रहे है। वही लोक निर्माण विभाग में भ्रष्टाचार का खुला खेल चल रहा है। ना सूचना सार्वजनिक हुई, ना टेंडर हुआ और नरेश चौक से धनोटू चौक तक टायरिंग भी हो गई। वो भी पूरे 1240 मीटर की जिसकी लागत 38 लाख रुपये के आस पास बैठती है।

सीधे शब्दों में समझिए, लोक विभाग नाचन के पास इतना पैसा है कि 38-38 लाख की टायरिंग बिना सूचना सार्वजनिक किए, बिना टेंडर दिए करवा सकता है। सरकार के आदेशों, नियमों और गाइडलाइन के खिलाफ इस तरह के काम भ्रष्टाचार नही है तो क्या है? हर तीसरे महीने 500 करोड़ का कर्ज लेने वाली सरकार में इस तरह पैसों का दुरुपयोग भ्रष्टाचार नही है तो क्या है। लेकिन नही, यह मंडी है। मुख्यमंत्री का गृह जिला और यहां का विधायक हिमाचल के सबसे ज्यादा वोटों से जीता विधायक है। यहां कानून, नियमों और आदेशों को ताक पर रख कर काम हो सकता है। मतलब सीधा है कि यहां नेताओं, ठेकेदारों और विभागीय अधिकारियों द्वारा भ्रष्टाचार का खुला खेल खेला जा रहा है।

लोक निर्माण विभाग नाचन मंडल के विभागीय अधिकरियों ने ठेकेदारों के साथ सांठ गांठ करके सरेआम जनता व सरकार की आखों में धूल झोंक कर लूट खसूट का खेल चलाया हुआ है। लोक निर्माण विभाग ने आरडी 178/300 से लेकर 179/540 यानी एनएच-21 के नरेश चौक से धनोटु के चौक क्षेत्र तक टायरिंग व रिपेयर वर्क के टेंडर जारी किए गए है। जो आगामी वर्ष जनवरी माह में तीसरे सप्ताह में खुलने है। लेकिन नेताओं और विभाग के आलाधिकारियों ने मिलीभगत कर टायरिंग कार्य अपने चहेते ठेकेदार से दिसंबर महीने से पहले ही करवा लिया है, अब खाना पूर्ति के लिए अगले साल 19 जनवरी को टेंडर लगाए जाएंगे। इस सवा किलोमीटर लगभग 1240 मीटर की टायरिंग के लिए विभाग द्वारा द्वारा 38 लाख रुपए अनुमानित लागत तय की है।

अब देखना है कि मामला उजागर होने पर नाचन के नेता और लोक निर्माण विभाग के भ्रष्ट अधिकारी कैसे इस मामले की सेटलमेंट करते है। क्या कानून, नियमों और आदेशों को ताक पर रखने वालों के खिलाफ कानून कार्यवाही अमल में लाई जाएगी या नही।

टेंडर अगले माह 19 जनवरी को खुलेंगे लेकिन विभाग ने कार्य पहले ही करवा लिया है क्योंकि सुन्दरनगर में पहले ही कुछ टायरिंग का कार्य चला हुआ था उसके साथ ही यह कार्य करवाया गया।-रमेश,पीडब्लूडी विभाग एक्सईएन गोहर

Please Share this news:
error: Content is protected !!