Honey Trap Gangs; नए नए तरीके अपना कर लोगों को लूट रहे है ‘हनी ट्रैप’ गिरोह

हनी ट्रैप गिरोह देश के विभिन्न हिस्सों में बैठकर अपना जाल बिछाए हुए हैं। ये गिरोह हाईवे पर ज्यादातर कार चालकों तथा ट्रक ड्राइवरों पर निशाना बनाते हैं।

महिलाएं नंबर देकर सुबह कॉल करने को कहती हैं। यह गिरोह के सदस्य बाद में युवाओं को व्हाट्सएप, फेसबुक मैसेंजर पर संदेश भेजकर फांस लेते हैं। इनके द्वारा भेजे गए संदेश को पढ़कर लोगों को ऐसा लगता है कि जैसे कोई लड़की उनसे दोस्ती करना चाह रही है।

फेसबुक पर लोगों द्वारा अपलोड की गई पोस्टों से गिरोह अंदाजा लगा लेता है कि व्यक्ति के पास कितना पैसा हो सकता है। जालंधर के देहाती क्षेत्र के हाईवे पर यह गिरोह कई वारदातों को अंजाम दे चुका है। इस गिरोह के सदस्य ढाबों तथा ट्रकों के पास खड़े होकर लोगों को फंसा कर मोबाइल नंबर लेते हैं और फिर बाद में वीडियो पर सैक्सी बातें और अश्लील हरकतें करने की फिल्म बनाकर ब्लैकमेल करते हैं। समाज में अपनी इज्जत बचाने के लिए इनके झांसे में आए लोग न तो पुलिस के पास शिकायत करने जाते हैं और न ही वे साइबर सैल में इसकी शिकायत देते हैं। जालंधर से पठानकोट को जाते हाईवे पर कई बार लोगों को महिलाएं मिलती हैं और कार चालक तथा ट्रक ड्राइवर उनके चक्कर में फंस जाते हैं जो बाद में अपने आप को ठगा-सा महसूस करते हैं।

जालंधर-पठानकोट हाईवे पर स्कूटरी सवार महिला के चर्चे पूरे
देर रात को जालंधर-पठानकोट हाईवे पर एक स्कूटरी सवार महिला ने बहुत आतंक मचा रखा है। वह नशे की पूर्ति के लिए कई लोगों को फंसा कर उनसे पैसे ऐंठ चुकी है। इसके अलावा वह कई लोगों को नशे की दलदल में धकेल चुकी है। उसके जाल में फंसे युवक अगर उसे पैसे नहीं देते तो वह उन्हें शोर मचा कर डराती है तथा उसका ही कोई साथी वहां आता है जो उस युवक को डरा-धमका कर उससे पैसे छीन लेता है।

महानगर में पहले भी सैक्स वीडियो हो चुकी हैं वायरल
महानगर में पिछले साल भी ‘हनी ट्रैप’ का गिरोह सक्रिय था। इस गिरोह की छोटी-सी आयु की लड़कियां युवकों से वीडियो पर सैक्सी बातें और अश्लील इशारे करने के वीडियो बना कर पैसों की मांग कर चुकी हैं लेकिन पैसे न देने के कारण गिरोह ने वीडियो वायरल भी की थीं।

अब हिमाचल में भी सक्रिय है यह गिरोह
हिमाचल प्रदेश के टूरिस्ट शहरों में भी यह गिरोह अब सक्रिय हो गया है। कुल्लू, धर्मशाला, लाहौल आदि शहरों के कई लड़कों से नग्नावस्था में वीडियो चैट करने के बाद गिरोह के सदस्य ब्लैकमेल कर उनसे पैसे ऐंठ चुके हैं। लाहौल का एक युवक ‘हनी ट्रैप’ में फंस गया तथा इनकी धमकी के कारण उसने मजबूर होकर लडक़ी के खाते में 13 हजार रुपए डाल कर अपनी जान छुड़ाई।

एक अन्य मामले में पार्वती घाटी के ढाबा चलाने वाले एक युवक ने बताया कि उसे एक लड़की ने पहले फेसबुक पर अपना दोस्त बनाया, फिर उसका व्हाट्सएप नंबर मांगा। उसके बाद वीडियो कॉल भी आने लगी। दूसरी तरफ से लडक़ी ने जब युवक को कहा कि वह नग्नावस्था में उसके साथ वीडियो चैट करे। युवक ने ऐसा ही किया और दूसरी तरफ से लडक़ी ने भी यही किया। करीब 7 मिनट की वीडियो चैट के बाद लडक़ी के तेवर बदल गए और उसने युवक को कहा कि वह भेजे गए बैंक खाता नंबर में एक लाख रुपए डाल दे। ऐसा न करने पर उसके अश्लील वीडियो को वायरल कर दिया जाएगा। युवक ने जब पैसे नहीं डाले तो लडक़ी ने उसका ही अश्लील वीडियो फेसबुक पर उसे टैग कर दिया।

क्या है हनी ट्रैप
हनी ट्रैप शब्द दो शब्दों को जोडक़र बना है। हनी का अर्थ हुआ शहद और ट्रैप का अर्थ है जाल। पहले शातिर कोई ऐसा झांसा देते हैं जिसमें व्यक्ति आनंद महसूस करे। उसके बाद उसे जाल में फंसाकर लूटा जाता है। जालंधर तथा कुल्लू में भी पुलिस ने ऐसे ही ‘हनी ट्रैप’ गिरोह के कई शातिरों को जेल में पहुंचाया है।

गिरोह को पकड़ने पर होगी कड़ी कार्रवाई : सुखपाल रंधावा
डी.एस.पी. करतारपुर सुखपाल सिंह रंधावा ने कहा कि अभी मेरे पास ऐसी कोई शिकायत नहीं आई है। हम हाईवे पर चैकिंग करेंगे। अगर ऐसा कोई गिरोह या उसका सदस्य पकड़ा गया तो उसके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी। किसी भी शरारती तत्व को लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा। यह पुलिस की पहली ड्यूटी है।

error: Content is protected !!