मिलिए हिमाचल की एक मात्र लड़की से जो थार से लेकर एक्सयूवी तक करती है रिपेयर

सुदूरवर्ती पहाड़ी गृह राज्य, प्रोफेशन स्पोर्ट्स यूटिलिटी व्हीकल्स (एसयूवी) को दुरुस्त करना और जिमिंग का शौक। दूरदराज के पहाड़ों से निकलकर आई गंगा जालंधर के महिंद्रा व्हीकल्स के शोरूम रागा मोटर्स की वर्कशॉप में अपने हुनर से ध्यान आकर्षित करती है।

माता-पिता की इकलौती संतान हिमाचल प्रदेश के जिला कुल्लू से संबंधित गंगा जब वर्कशॉप में स्कॉर्पियो, एक्सयूवी 300, एक्सयूवी 500 और देश भर में ऑफ रोडिंग के लिए अपनी अलग पहचान बनाने वाले थार समेत महिंद्रा के तमाम व्हीकल्स को लिफ्ट से उठा कर दुरुस्त करती है तो देखने वाले दंग रह जाते हैं।

शिमला यूनिवर्सिटी से हिंदी में पोस्ट ग्रेजुएशन करने के बाद पारिवारिक परिस्थितियां कुछ ऐसी बनी कि अपने ही अत्यंत नजदीकी रिश्तेदारों की बेरुखी का सामना करना पड़ा। गंगा बताती हैं कि इसी बेरुखी ने उन्हें जिंदगी में कुछ कर दिखाने का हौसला दे डाला। पहले कुल्लू में एक वर्ष तक बतौर मैकेनिक कार्य किया और फिर उसके बाद जालंधर में ही अपने सपनों को साकार करने के लिए महिंद्रा की रागा मोटर्स वर्कशॉप में रिपेयर का काम सीखना आरंभ कर दिया। पहले बतौर असिस्टेंट मैकेनिक कार्य किया और अब खुद एसयूवी व्हीकल्स के इंजन की आवाज सुनकर ही फाल्ट ढूंढने की महारत रखती है।

वाहनों की इलेक्ट्रिकल रिपेयर का काम भी सीख रही

आगे बढ़ने का और सीखने का जज्बा इस कदर विराट है कि अब गंगा मैकेनिकल के अलावा वाहनों की इलेक्ट्रिकल रिपेयर का काम भी सीख रही है। पुरुष प्रधान मैकेनिकल प्रोफेशन में गंगा खुद को कंफर्टेबल मानती है। गंगा का कहना है कि उन्हें रागा मोटर्स में मैनेजमेंट अथवा साथ काम करने वाले मैकेनिकों से इतना सहयोग मिला है कि उन्हें इस प्रोफेशन में खुद को स्थापित करने का उम्दा प्लेटफार्म मिल सका।

रोज जिम जाती है

दिनभर वर्कशॉप में भारी भरकम इंजन दुरुस्त करने के बाद गंगा घर जाकर अपना खाना भी खुद बड़े शौक से बनाती है। अति व्यस्त एवं थकाऊ रूटीन के बावजूद प्रतिदिन जिमिंग करना गंगा कभी मिस नहीं करती है। गंगा परिस्थितियों के आगे हिम्मत हार देने वाली तमाम लड़कियों के लिए रोल मॉडल है। गंगा का कहना है कि कभी भी किसी लड़की को परिस्थितियों के सामने हार नहीं माननी चाहिए। जो लोग जिंदगी में आपका रास्ता रोकते हैं। आपको दुख देते हैं। वही तो आपको आगे बढ़ने की एक हिम्मत भी दे डालते हैं। गंगा का मूल मंत्र है कि जिंदगी जिंदादिली से जीनी चाहिए।

पंजाबी संस्कृति में भी खुद को डाल चुकी

गंगा पंजाबी संस्कृति में भी खुद को पूरी तरह से डाल चुकी है। बोहेमिया के गाने सुनती है और उसकी इस कदर फैन है कि अपने हाथ पर उसका नाम तक का टैटू बनवा रखा है। गंगा की पंजाबी सुनकर कोई अंदाजा भी नहीं लगा सकता कि यह हिमाचल प्रदेश के सुदूरवर्ती जिला कुल्लू से संबंधित है।

गंगा बतौर मैकेनिक सौ फीसद फिट है : संचालक रमणीक हांडा

गंगा के हुनर पर विश्वास जताने वालेरागा मोटर्स के संचालक रमणीक हांडा बताते हैं कि लड़कियां हमारे समाज में लड़कों से कहीं भी कम नहीं है। अगर लड़कियों को अथॉरिटी देंगे तो देश आगे बढ़ेगा। यही वजह थी कि गंगा की मेहनत को बारीकी से देखा और उसे काम करने का मौका दिया उन्होंने कहा कि गंगा बतौर मैकेनिक सौ फीसद फिट है और उन्हें गर्व है कि गंगा रागा मोटर्स का हिस्सा है।

error: Content is protected !!