सरकार की तरफ से ट्रस्ट बनाया और उसमें भ्रष्टाचारियों को शामिल किया- स्वरूपानंद सरस्वती

छिंदवाड़ा। राम मंदिर जमीन विवाद को लेकर राजनीति खूब हो रही है। नेताओं के बाद द्वीपीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने ज्योतेश्वर में श्री रामजन्म भूमि अयोध्या में हो रहे मंदिर निर्माण के ट्रस्ट के बहाने आरएसएस और बीजेपी पर जमकर निशाना साधा है।

शंकराचार्य ने कहा कि सरकार की तरफ से ट्रस्ट बनाया गया है। उसमें भ्रष्टाचारियों को शामिल कर लिया गया है। चंपत राय कौन थे। यह पहले कोई नहीं जानता था, लेकिन उन्हें राम मंदिर ट्रस्ट में सर्वे सर्वा बना दिया गया। इससे पहले उन्होंने बिना नाम लिए केंद्र में बैठी मोदी सरकार पर भी गोहत्या बंदी ना कराने को लेकर निशाना साधा है।

शंकराचार्य ने कहा कि गौ हत्या बंदी के लिए जब इनकी संख्या संसद में 2 थी। तब लंबे समय तक संघर्ष किया गया लेकिन जब संसद में इनकी संख्या 200 से ज्यादा हो गई तो यह गोहत्या बंदी का नारा भूल गए।

शुभ मुहूर्त में नहीं किया गया मंदिर का शिलान्यास
शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती ने मंदिर के शिलान्यास पर भी सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि श्री राम मंदिर निर्माण का शिलान्यास में शुभ मुहूर्त का ध्यान नहीं दिया गया, मंदिर का शिलान्यास अत्यंत अशुभ मुहूर्त में किया गया है। जिसका हम ने विरोध भी किया लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। इसी के कारण न्यासियों की बुद्धि खराब हो रही है। जिसका उदाहरण प्रत्यक्ष रूप से देखा जा सकता है।

error: Content is protected !!