गूगल ने हटाए प्ले स्टोर से कई लोन Apps, शिकायत के बाद लिया एक्शन

Google ने सैकड़ों की संख्या में व्यक्तिगत लोन ऐप की समीक्षा की है और इनमें से कई को अपने प्ले स्टोर से हटा दिया है. कई यूजर्स और सरकारी एजेंसियों ने कंपनी से इन App को लेकर चिंता जताई थी.

गूगल ने कहा कि जो ऐप उपयोक्ता सुरक्षा नीतियों का उल्लंघन कर रही थीं, उन्हें तत्काल प्ले स्टोर से हटा दिया गया है. हालांकि, यह नहीं बताया गया कि उसने किन ऐप को हटाया है.

गूगल ने साथ ही अन्य App डेवलपर्स से कहा है कि वे यह दर्शाएं कि किस तरीके से कानूनों और नियमनों का अनुपालन कर रहे हैं. यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं तो उनकी ऐप को भी प्ले स्टोर से हटा दिया जाएगा.

गूगल ने ब्लॉगपोस्ट में कहा, ‘‘गूगल के उत्पादों तक सुरक्षित अनुभव प्रदान करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है. हमारी वैश्विक उत्पाद नीतियां इसी लक्ष्य को ध्यान में रखकर डिजाइन और क्रियान्वित की गई हैं. हम प्रयोगकर्ता की सुरक्षा में सुधार के लिए लगातार काम कर रहे हैं. ’’

ब्लॉगपोस्ट में कहा गया है, ‘‘हमने भारत में सैकड़ों की संख्या में व्यक्तिगत ऋण ऐप की समीक्षा की. इनको लेकर प्रयोगकर्ताओं और सरकारी एजेंसियों ने चिंता जताई थी. प्रयोगकर्ता सुरक्षा नीति का उल्लंघन कर रही ऐप को प्ले स्टोर से तत्काल हटा दिया गया है.’’

बता दें की आरबीआई ने ऑनलाइन लोन से संबंधित उत्पीड़न की बढ़ती घटनाओं के बीच बुधवार को एक कमेटी का गठन किया था. जो ऑनलाइन लोन संबंधित मामलों पर विचार करेगी. आरबीआई ने कहा कि हाल में ऑनलाइन ऋण देने वाले मंचों और ऐप की लोकप्रियता बढ़ने के साथ ही कुछ गंभीर चिंताएं पैदा हुई हैं.

केंद्रीय बैंक ने कहा, ‘‘इसके मद्देनजर विनियमित वित्तीय क्षेत्र के साथ ही अनियमित वित्तीय क्षेत्र में डिजिटल ऋण वितरण की गतिविधियों के सभी पहलुओं का अध्ययन करने के लिए एक कार्य समूह की स्थापना की जा रही है, ताकि केंद्रीय बैंक को एक उचित नियामक दृष्टिकोण मिल सके.’’

Please Share this news:
error: Content is protected !!