तीन लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर डांस बार में नचाया; बैंगलूरू

कर्नाटक के बेंगलुरु में पुलिस ने तीन ऐसी लड़कियों को रेस्क्यू किया है, जिन्हें डांस बार में काम करने के लिए मजबूर किया गया था। पीड़ित लड़कियां सर्विस सेक्टर में काम करती थीं। लेकिन लॉकडाउन के दौरान उनकी नौकरियां चली गईं। वे तीनों एक ऐसी नौकरी के एक झांसे में फंस गईं, जहां उन्हें फ्रंट ऑफिस एक्जीक्यूटिव के रूप में काम करने की पेशकश की गई थी।

जानकारी के मुताबिक दो महिलाओं ने दिल्ली की पीड़ित लड़कियों से संपर्क किया और उन्हें जॉब का ऑफर दिया। उन्हें बेंगलुरु आने के लिए फ्लाइट के टिकट भी दिए गए। इसके वे तीनों 21 दिसंबर को बेंगलुरु जा पहुंची। वहां उन्हें तुरंत व्हाइटफील्ड पुलिस लिमिट के एक अपार्टमेंट में रखा गया। अगले दिन उन तीनों को एक डांस बार में ले जाया गया और उन तीनों को वहां मौजूद लोगों के सामने डांस करने के लिए कहा गया, जो उन पर पैसा फेंक रहे थे।

तीनों लड़कियों ने डांस करने से इनकार कर दिया। इसके बाद फिर से उन्हें अपार्टमेंट में वापस ले जाया गया। वहां उनमें से एक पीड़ित लड़की ने दूसरी रूममेट का फोन लिया और पुलिस को फोन करके उनकी हालत के बारे में जानकारी दी। सूचना मिलते ही पुलिस अलर्ट हो गई और उस अपार्टमेंट पर छापा मारा, जहां लड़कियों बंधक बनाया गया था। पुलिस ने वहां से तीनों लड़कियों को मुक्त कराया।

पुलिस ने आरोपियों की पहचान सुनील, लक्ष्मण, विक्की, दिव्या, पूजा और निक्की कुमार के रूप में की है। पुलिस ने सुनील को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। छानबीन में पता चला कि तीनों लड़कियों को 3 दिनों तक अपार्टमेंट में बंद करके रखा गया था और उनके फोन भी जब्त कर लिए गए थे। पुलिस ने उन तीनों के बयान दर्ज किए और फिर उन्हें वापस दिल्ली भेज दिया।

बेंगलुरु के डीसीपी (पश्चिम) ने बताया कि एसीपी केंग्रिगेट कृष्णकुमार और लक्ष्मण पीआई के नेतृत्व में एक टीम बनाई गई, जिसने दिल्ली की रहने वाली 3 लड़कियों को बचाया। पुलिस ने जेबीपीएस सीमा में एक अपार्टमेंट में छापा मारा। जहां लड़कियों को बंद करके रखा गया था। उन्हें वेडिंग अरेंजमेंट आदि में काम करने के लिए नौकरी की पेशकश की गई थी, लेकिन बाद में उन्हें बार और रेस्तरां में काम करने के लिए मजबूर किया गया।

डीसीपी (पश्चिम) के मुताबिक जब लड़कियों ने वहां काम करने से इनकार कर दिया, तो आरोपियों ने उनसे उन पर खर्च किए गए पैसे का भुगतान करने की बात कही। लेकिन लड़कियां ऐसा नहीं कर पाई तो उन्हें बंधक बना लिया गया।

Please Share this news:
error: Content is protected !!