युवती ने 112 पर कॉल कर जिला परिषद और उसके भाई पर लगाए अगवा करने व बलात्कार के आरोप

Punjab News: कस्बा झब्बाल से संबंधित एक युवती ने जिला परिषद सदस्य मुनीश कुमार मोनू चीमा व उसके भाई सरपंच अवन कुमार सोनू चीमा के खिलाफ थाना सराय अमानत खां में छेड़छाड़ करने, मारपीट करने व जान से मारने की धमकियां देने बाबत केस दर्ज कर लिया है। आरोपितों की गिरफ्तारी अभी बाकी है। हालांकि युवती ने दुष्कर्म किए जाने के भी बयान दर्ज करवाए हैं।

युवती ने पुलिस हेल्पलाइन नंबर 112 पर काल करके शिकायत दी कि बुधवार सुबह सात बजे गांव चीमा कलां के पूर्व सरपंच का फोन आया कि सात वर्ष से जो आपकी जमीन का झगड़ा सरपंच अवन कुमार सोनू चीमा के साथ चलता है। उसके निपटारे लिए मोनू चीमा के फार्म हाउस पर बातचीत करनी है।

युवती अपनी मां समेत फार्म हाउस पर पहुंची। यहां पर जिला परिषद सदस्य मुनीश कुमार मोनू चीमा, उसका भाई सरपंच अवन कुमार सोनू चीमा व एक अन्य पूर्व सरपंच मलकीत सिंह मौजूद था। आरोपित ने फार्म हाउस का दरवाजा बंद कर दिया। इस दौरान सोनू चीमा ने मारपीट करनी शुरू कर दी। युवती के बचाव लिए उसकी मां दुहाई देती रही। आरोपितों के चुंगल से छूटकर युवती अपनी एक्टिवा पर जब गंडीविड के पास पहुंची तो जिला परिषद सदस्य मुनीश कुमार मोनू चीमा अपनी क्रेटा गाड़ी लेकर वहां पहुंचा। आरोपित ने नहर के किनारे युवती को पकड़कर जबरी कार में बिठा लिया व सन्न साहिब के पास स्वीमिग पूल पर ले गया और वहां पर उसके साथ दुष्कर्म किया।

एसएसपी ध्रुमन एच निबाले द्वारा मामले की जांच लिए सब इंस्पेक्टर बलजीत कौर को मौके पर भेजा। जांच के बाद युवती को कसेल अस्पताल में दाखिल करवा दिया गया। थाना सराय अमानत खां के प्रभारी सब इंस्पेक्टर दीपक कुमार ने बताया कि आरोपितों के खिलाफ फिलहाल विभिन्न धाराओं के तहत एफआइआर दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि युवती कामेडिकल करवाया जाएगा, अगर दुष्कर्म की पुष्टि हुई तो धाराओं में इजाफा कर दिया जाएगा।

सोनू-मोनू ने आरोपों को बताया झूठ

जिला परिषद सदस्य मुनीश कुमार मोनू चीमा व सरपंच अवन कुमार सोनू चीमा का कहना है कि उक्त युवती उनको बेवजह ब्लैकमेल करती है। उन्होंने कभी किसी महिला पर हाथ नहीं उठाया। उन पर लगाए जा रहे सभी आरोप झूठे हैं। हम हर तरह की जांच के लिए तैयार हैं।

error: Content is protected !!