कनाडा के सपने दिखा कर 12 लोगों से ठगे 71 लाख, लुधियाना समेत कई जगह खोले थे फर्जी ऑफिस

अमृतसर के बाबा बड्ढा एवेन्यू में रहने वाले दंपती ने लुधियाना, जगराओं व बरनाला के 12 लोगों को कनाडा के सपने दिखाकर 71 लाख रुपये हड़प लिए हैं। आरोपित दंपती पंकज खोखर, उसकी पत्नी सिमरन खोखर के खिलाफ अमृतसर और तरनतारन में भी धोखाधड़ी के कई केस दर्ज हैं। अब लुधियाना पुलिस ने भी दंपती और उनके एक साथी गुरमीत सिंह को नामजद कर लिया है। आरोपित दंपती धोखाधड़ी के मामले में फिलहाल अमृतसर जेल में बंद था जिसे तरनतारन पुलिस पूछताछ के लिए प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गई है।

एएसआइ बलवीर सिंह ने बताया कि बरनाला के हंडियाया रोड स्थित गुरु तेग बहादर नगर के रहने वाले रणजीत सिंह ने पुलिस के पास शिकायत की है।

उसने बताया कि आरोपित दंपती का लुधियाना के गिल चौक में दफ्तर होता था। उसने कनाडा जाने के लिए आरोपितों से संपर्क किया था। उसे देखकर उसके बरनाला जिले के कस्बा महलकलां के जानकार कुलविंदर सिंह, सतनाम सिंह, गुरदीप सिंह, ममनदीप सिंह, गांव वजीदके कलां व खुर्द के गगनदीप सिंह व मनजोत सिंह, जगराओं के गांव अखाड़ा के रछपाल सिंह व जसवीर सिंह और लुधियाना के गांव कालसां के टहल सिंह, दविंदर कौर और नवनीत कौर ने भी आरोपितों के पास कनाडा जाने के लिए संपर्क किया।

आरोपितों ने सभी लोगों से 67, 39,500 रुपये और 4935 कैनेडियन डालर ले लिए। बाद में न तो उनका वीजा लगवाया और न पैसे वापस किए। बाद में वह वहां से दफ्तर बंद कर भाग गए। छानबीन करने पर पता चला कि उन्होंने अब तरनतारन में दफ्तर खोल लिया है। कुछ समय बाद फिर से लुधियाना लौट आए फिर करतारपुर गए और अंत में अमृतसर चले गए। कई थानों में उनके खिलाफ धोखाधड़ी के केस दर्ज हैं।

अमृतसर पुलिस ने पांच जून को किए थे गिरफ्तार

अमृतसर के थाना मोहकमपुर की पुलिस ने पांच जून को ठग दंपती को गिरफ्तार किया था। इसके बाद वह अमृतसर की जेल में बंद थे। तरनतारन में उनके खिलाफ पांच केस दर्ज हैं। दो दिन पहले ही तरनतारन की पुलिस उन्हें प्रोडक्शन वारंट पर लेकर गई है। इसके बाद लुधियाना पुलिस उन्हें प्रोडक्शन वारंट पर लगाएगी।

Get news delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!