कोरोना के साथ उत्तर प्रदेश में ब्लैक फंगस का कहर, अब तक चार की मौत

कोरोना का कहर झेल रहे यूपी के लोगों को अब ब्लैक फंगस डराने लगा है। एक के बाद एक जिले में इसका खतरा बढ़ता जा रहा है। बीते 24 घंटे के अंदर लखनऊ समेत प्रदेश में 4 मौतें हुई हैं। झांसी के महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कॉलेज में भर्ती ब्लैक फंगस के दो मरीजों की मौत हो गई है। दोनों मरीज आईसीयू में भर्ती थे। मंगलवार को एमआरआई जांच में 5 मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई थी। जबकि राजधानी लखनऊ और मेरठ में एक-एक व्यक्ति की जान गई।

वहीं, गोरखपुर में दो दिन में इसकी चपेट में आए दो मरीजों की एक-एक आंख खराब हो गई है। बनारस में 20 मरीज इसकी चपेट में आए हैं। इन दिनों प्रदेश के कोविड अस्पतालों में बड़ी संख्या में ब्लैक फंगस मरीज मिल रहे हैं, जिनमें से कई की हालत गंभीर बताई गई है।

झांसी- इम्यूनिटी कम होने से इन्फेक्शन बढ़ता चला गया

झांसी महारानी लक्ष्मीबाई मेडिकल कालेज के विभागाध्यक्ष, ईएनटी डॉ. जितेन्द्र कुमार यादव ने बताया कि जिन दो मरीजो का उपचार चल रहा था, वे शारीरिक रूप से बहुत कमजोर थे और उनकी इम्यूनिटी वीक थी। इम्यूनिटी कम होने से इन्फेक्शन बढ़ता चला गया और दो मरीजों की मौत हो गई।

गोरखपुर- दोनों को इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया

गोरखपुर में दो दिन में इसकी चपेट में आए दो मरीजों की एक-एक आंख खराब हो गई है। 50 वर्षीय व्यक्ति की स्थिति गंभीर बताई जा रही है, जबकि सपा पार्षद के प्रतिनिधि की हालत स्थिर है। दोनों को इलाज के लिए लखनऊ रेफर किया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक आंख का ऑपरेशन करना पड़ेगा, तभी मरीजों की हालत में सुधार संभव है।

बताया जा रहा है कि मरीज की एक आंख पूरी तरह से खराब हो गई है। साथ ही संक्रमण दिमाग तक पहुंच गया है। परिजनों ने मरीज को पहले एम्स, नई दिल्ली ले जाने का प्रयास किया, लेकिन बेड की व्यवस्था नहीं हो सकी। गोरखपुर में भी एडवांस उपचार की व्यवस्था नहीं मिली।

बनारस: 3 लोगों का ऑपरेशन किया जा चुका है

ब्लैक फंगस से पीड़ित 20 लोगों ने अब तक बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के ईएनटी डिपार्टमेंट में संपर्क किया है। इन 20 लोगों में से 10 लोगों को डॉक्टरों ने ऑपरेशन कराने की सलाह दी है। इनमें से 3 लोगों का ऑपरेशन किया जा चुका है, जबकि 7 लोगों की कोरोना जांच रिपोर्ट आने के बाद ऑपरेशन किया जाएगा। अब तक इन 20 लोगों में से किसी की मौत नहीं हुई है।

error: Content is protected !!