पांच राज्यों को मिले 38 फारेस्ट रेंज ऑफिसर्स,

उत्तराखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, मिजोरम व छत्तीसगढ़ राज्यों को 38 वन परिक्षेत्र अधिकारी (फारेस्ट रेंज आफिसर) मिल गए हैं। मंडी जिले के वन प्रशिक्षण संस्थान एवं रेंजर्स कालेज सुंदरनगर में इन फारेस्ट रेंज आफिसर ने 18 माह का प्रशिक्षण पूरा कर लिया है। सोमवार को वर्चुअल माध्यम से हुए दीक्षा समारोह में प्रधान मुख्य अरण्यपाल (एचओएफएफ) सविता और आरपी सिंह निदेशक वन शिक्षा निदेशालय देहरादून बतौर मुख्यातिथि मौजूद रहे।


Right News India

We are Fastest growing media channel in Himachal Pradesh. We have more than 22 Lakh visitors reach every month, You can increase your business with us by advertising your products.


इस दौरान वन प्रशिक्षण संस्थान एवं रेंजर्स कालेज के निदेशक एचके सरबटा ने प्रशिक्षण रिपोर्ट में बताया कि संस्थान द्वारा 38 को फारेस्ट रेंज आफिसर को प्रशिक्षण दिया गया।

इनमें उत्तराखंड से एक, कर्नाटक से 18, मध्य प्रदेश से नौ, मिजोरम से तीन, छत्तीसगढ़ से नौ से प्रक्षिशु शामिल थे। इनमें से कुछ प्रक्षिशु उच्च पद पर पदोन्नत होने के कारण प्रशिक्षण छोड़कर चले गए थे। 29 पुरुष और नौ महिला रेंजरों ने प्रशिक्षण पूरा किया। 30 प्रशिक्षुओं ने आनर्स सर्टिफिकेट हासिल किया। लता गुरु भट्ट ने वानिकी रेंज प्रशासन में सिल्वर मेडल और ओवरआल गोल्ड मेडल प्राप्त किया। कार्तिक कवाली ने पारिस्थितिकी में रजत और किरण कुमार पीएच ने वन इंजीनियरिग में रजत पदक प्राप्त किया। इस प्रशिक्षण में लता गुरु भट्ट (कर्नाटक) ने प्रथम, ज्योति मेंसिकाई (कर्नाटक) ने द्वितीय व शुभी जैन (मध्य प्रदेश) ने तृतीय स्थान प्राप्त किया।

दीक्षा समारोह में संजय सूद, आनर्स आनलाइन एवं एपीसीसीएफ (अनुसंधान एवं प्रशिक्षण) एचपी सुंदरनगर, संस्थान के संयुक्त निदेशक तिलक राज शर्मा, सीएल जोशी, उप निदेशक चंद्रशेखर, पारुल सूद, डा. योगेंद्र शर्मा व महेंद्र कुमार नेगी सहित अन्य मौजूद रहे।


error: Content is protected !!