भगवान शिव के हाथ में शराब वाले स्टिकर के कारण “इंस्टाग्राम” के खिलाफ एफआईआर दर्ज

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम के खिलाफ मंगलवार को दिल्ली में एक FIR दर्ज कराई गई। दिल्ली के नागरिक मनीष सिंह ने ये केस दर्ज कराया है। दरअसल, इंस्टाग्राम पर हिंदुओं की भावनाओं को भड़काने का आरोप लगा है। सिंह ने अपनी शिकायत में कहा है कि इंस्टा ने भगवान शिव के स्टिकर को अपमानजनक तरीके से दिखाया।

शिकायत में कहा गया है कि इंस्टाग्राम पर SHIV की-वर्ड सच करने पर कई स्टिकर्स दिखाई दे रहे हैं। इनमें से एक में भगवान शिव को वाइन ग्लास और फोन के साथ दिखाया गया है।

स्टिकर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का, किसी यूजर का नहीं
शिकायतकर्ता मनीष सिंह ने कहा कि वह इंस्टाग्राम स्टोरी अपलोड कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने SHIV की-वर्ड सर्च किया। इसके बाद उन्हें ये आपत्तिजनक स्टिकर दिखाई दिया। मनीष ने कहा कि ये स्टिकर किसी यूजर ने प्रोवाइड नहीं कराया है, बल्कि ये सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ने ही प्रोवाइड कराया है।

उन्होंने कहा कि इस स्टिकर को बनाने का मकसद हिंदुओं की भावनाओं को चोट पहुंचाना है। इस हरकत के लिए इंस्टाग्राम के CEO और अन्य अधिकारियों के खिलाफ केस दर्ज किया जाए। इससे पहले भी इंस्टाग्राम पर मौजूद कई आपत्तिजनक स्टिकर्स को लेकर शिकायत की जा चुकी है।

सरकार ने सख्ती के लिए बनाए नए नियम
केंद्र सरकार ने 25 फरवरी को सोशल मीडिया के लिए नई गाइडलाइन जारी की थी। इनमें कहा गया है कि यूजर जो भी कंटेंट उनके प्लेटफॉर्म पर डालते हैं, उसके लिए सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म भी जवाबदेह होंगे। अगर भारत की सुरक्षा, अखंडता के खिलाफ कोई पोस्ट या ट्वीट किया जाता है तो सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को उसके ओरिजिनेटर यानी पहली बार ये पोस्ट करने वाले को जाहिर करना होगा।

अगर किसी पोस्ट पर अधिकारी चिंता जाहिर करते हैं, तो उसे 36 घंटे के भीतर हटाना होगा। शिकायतों को लेकर एक अधिकारी की नियुक्ति भारत में ही करनी होगी, जो 24 घंटे के भीतर शिकायतों पर ध्यान देगा और 15 दिन के भीतर इनका निपटारा करेगा।


Please Share this news:
error: Content is protected !!