किसान आंदोलन; गांव गांव जाकर ट्रांसमिशन लाइन घोटाले के खिलाफ लोगों को एक जुट किया जाएगा

श्री नैना देवी जी विधानसभा के अंतर्गत आने वाले जुखाला क्षेत्र में टावर लाइन शोषित जागरुकता मंच तथा भारतीय किसान यूनियन के हिमाचल संयोजक अधिवक्ता एवं सामाजिक कार्यकर्ता रजनीश शर्मा के नेतृत्व में प्रभावित किसानों ने जुखाला में पिछले 16 दिनों से दिल्ली चलो अभियान के तहत जन जागरण अभियान की शुरुआत की गई है।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव व किसान आंदोलन के राष्ट्रीय समन्वय समिति के कोऑर्डिनेटर ने दिल्ली से विशेष रुप से पहुंचकर शिरकत की तथा ट्रांसमिशन लाइनों के संवेदनशील विषय को राष्ट्रीय स्तर पर निवारण हेतु मंच के मांग पत्र को जारी कर विशेष रणनीति बनाने के लिए मंच के राज्य कमेटी के किसानों को दिल्ली आमंत्रित किया। धरने के दौरान स्थानीय प्रगतिशील लोगों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, महिलाओं, युवा वर्ग की तरफ से भारी जनसमर्थन व सफलता मिली है। मंच के जिला अध्यक्ष बाबू राम ठाकुर ने बताया कि कृषि अध्यादेश का विरोध देशभर के किसान अपने-अपने राज्यों में बड़े स्तर पर कर रहे हैं। मंच के संस्थापक सदस्य तथा भारतीय किसान यूनियन के हिमाचल संयोजक अधिवक्ता एवं सामाजिक कार्यकर्ता रजनीश शर्मा ने श्री नैना देवी जी विधानसभा से कांग्रेस पार्टी के मौजूदा विधायक व हिमाचल प्रदेश के वरिष्ठ नेता श्री रामलाल ठाकुर का किसान मोर्चा हिमाचल व भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय महासचिव युद्धवीर सिंह द्वारा भी धन्यवाद किया गया तथा उन्हें विशेष रुप से हिमाचली टोपी पहना कर सम्मानित किया। उन्होंने विशेष रूप से किसानों के धरने में पहुंचकर जुखाला के ट्रांसमिशन लाइनों से प्रभावित किसानों की सभी मांगों पर सशर्त समर्थन देकर कंधे से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ने का भी आश्वासन दिया।

वरिष्ठ कांग्रेसी नेता राम लाल ठाकुर के समर्थन में आने से मंच के किसानों की ताकत व हिम्मत बड़ी है। क्योंकि जुखाला क्षेत्र में कुल सात बड़ी हाई वोल्टेज की ट्रांसमिशन लाइनों से प्रभावित सैकड़ों किसानों का अपनी मलकीयत जमीन की जायज लड़ाई लड़ने का हौसला और लड़ाई लड़ने का जज्बा मजबूत हुआ है।

क्योंकि पूरे जुखाला क्षेत्र व श्री नैना देवी जी विधानसभा में उपजाऊ व बेशकीमती जमीन, घरों, गौशालाओं के ऊपर से गैरकानूनी तरीके से ट्रांसमिशन लाइने व बिजली के बड़े-बड़े टावर लगाकर गरीब किसानों को भूमिहीन कर दिया गया है। जोकि बेहद संवेदनशील तथा भूमि अधिकारों तथा मानवाधिकारों के हनन का भी मामला है। मौजूदा विधायक राम लाल ठाकुर ने भी निष्पक्ष रूप से किसानों की आवाज को प्रदेश विधानसभा के आगामी सत्र में अंदर व बाहर मजबूती से उठाने का आश्वासन भारतीय किसान यूनियन संयुक्त किसान मोर्चा हिमाचल को दिया है। जिससे मंच के प्रदेश के हजारों प्रभावित सभी किसान उत्साहित हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले विपक्ष में रहते हुए भाजपा के विधायक जयराम ठाकुर तथा विनोद कुमार द्वारा भी यह संवेदनशील विषय विधान सभा पटल पर उठाया जा चुका है तथा विधानसभा चुनाव 2018 में भी भाजपा द्वारा प्रभावित 8 विधानसभा के उम्मीदवारों के घोषणा पत्र में भी पुरजोर तरीके से उठाया गया था। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामलाल ठाकुर द्वारा किसानों की जायज मांगों पर समर्थन देने तथा उचित निवारण हेतु आश्वासन मिलने पर प्रदेश भाजपा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। मंच ने संयुक्त रूप से निर्णय लिया है कि हिमाचल प्रदेश के सभी जिलों व गांव-गांव में जाकर किसानों को जन जागरण अभियान के तहत कृषि अध्यादेश के खिलाफ तथा रिलायंस कंपनी द्वारा किए गए टॉवर लाइन घोटाले के मामले को राष्ट्रीय स्तर पर उठाने हेतु मंच पोस्टर बांटकर जागरूकता अभियान के तहत जागरूक करेगा व विभिन्न सामाजिक संस्थाओं, पर्यावरण समूहों, महिला मंडलों, युवक मंडलों से मदद मांगेगा। ताकि सरकार की किसान विरोधी नीतियों को उजागर कर इंडियन टेलीग्राफ एक्ट को किसान हित में तुरंत प्रभाव से खारिज करने हेतु मांग को गंभीरता से उठाया जा सके।

मंच ने संयुक्त रूप से कहा कि सभी राजनैतिक दल इस बेहद संवेदनशील जन समस्या जिसमें लाखों किसान बिना भूमि अधिग्रहण, बिना एग्रीमेंट, बिना किराया भूमिहीन हो रहे हैं के विषय पर आमसहमति द्वारा निवारण के लिए भूमि अधिग्रहण बिल को प्रभावी बनाने के लिए ताकि किसानों को उनकी भूमि का मुआवजा तथा किराया मिल सके व राजसभा लोकसभा में विशेष कानून बनाने की मांग को प्रदेश व राष्ट्रीय स्तर पर उठाने में सहयोग करें।

Please Share this news:
error: Content is protected !!