व्यक्ति कर रहा था लाइव आत्महत्या, अमेरिका से फेसबुक आफिस ने किया फ़ोन तो बचीजान

राजधानी दिल्ली में पुलिस की मुस्तैदी की वजह से एक शख्स को खुदकुशी करने से बचा लिया. 39 साल का यह शख्‍स फेसबुक पर लाइव वीडियो साझा कर खुदकुशी करने का प्रयास कर रहा था. हालांकि, सोशल मीडिया कंपनी ने अमेरिका से समय रहते दिल्ली पुलिस को सतर्क कर दिया. इसके बाद पुलिस ने उस व्यक्ति की जान बचा ली. यह जानकारी शनिवार को अधिकारियों ने दी. पश्चिम दिल्ली के द्वारका निवासी सोहन लाल (बदला नाम) ने पड़ोसियों से विवाद होने के बाद अपने हाथ पर कई गंभीर जख्म कर लिए.

दरअसल 3-4 जून की रात दिल्ली में बैठा यह शख्स फेसबुक पर LIVE सुसाइड कर रहा था. अमेरिका के फेसबुक के हेड ऑफिस में बैठे लोगों ने जैसे ही इस संदिग्ध हरकत को देखा, तुरंत उन्होंने दिल्ली पुलिस को इसकी जानकारी दी.

फेसबुक की टीम ने दिल्ली पुलिस को उस शख्स का अकाउंट डिटेल मेल किया.

डीसीपी सायबर सेल ने सुसाइड करने वाले शख्स के फेसबुक से वो फोन नम्बर हासिल किया जो फेसबुक पर रजिस्टर किया गया था. लेकिन फोन नम्बर बंद था. जिसके बाद फोन नम्बर के जरिए एड्रेस निकाला गया और उस एड्रेस पर टीम को रवाना किया गया. जैसे ही पुलिस की टीम शख्स के घर पहुंची तो देखा कि घर में खून बिखरा हुआ था और उसकी हालत बेहद खराब थी. उसे तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया और उसकी जान बचाई जा सकी.

सोहन लाल मिठाई की दुकान में काम करता है. उसके दो छोटे बच्चे हैं. उन्होंने बताया कि 2016 में पत्नी की मौत के बाद से उसकी आर्थिक स्थिति कमजोर है.

महाराष्ट्र: यूट्यूब में वीडियो देख युवक ने 6 लोगों को बनाया बंधक, मांगी 50 लाख रुपये की फिरौती

पुलिस का बयान

पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पड़ोसियों से विवाद के बाद उसने खुद को जख्मी कर लिया. ऐसा करते समय उसने इसे फेसबुक पर लाइव कर दिया. इन सब घटनाओं के बीच सीवाईपैड के डीसीपी अन्येश राय को फेसबुक के अमेरिका कार्यालय से फोन आया. उन्‍हें बताया गया कि दिल्ली में एक व्यक्ति फेसबुक पर संदिग्ध तौर पर खुद को नुकसान पहुंचाने वाला लाइव वीडियो पोस्ट कर रहा है.

पुलिस ने बताया कि दिल्ली पुलिस की नोडल साइबर इकाई ‘साइबर रोकथाम जागरूकता एवं अनुसंधान (सीवाईपैड)’ और अंतरराष्ट्रीय सोशल मीडिया मंचों के बीच समन्वय के तहत कंपनी ने यह अलर्ट किया.

अधिकारी ने बताया कि फेसबुक की ओर से साझा अकाउंट की पुलिस ने जांच की. अकाउंट से जुड़ा मोबाइल नंबर बंद था. बाद में पुलिस ने मोबाइल नंबर से जुड़े पते को हासिल किया जो द्वारका में पाया गया. पुलिस ने बताया कि नजदीकी आपातकालीन प्रतिक्रिया वाहन और इसके प्रभारी उप निरीक्षक अमित कुमार घटनास्थल पर पहुंचे और उस व्यक्ति का पता लगाया जो खुदकुशी की कगार पर था.

कुमार जब उस स्थान पर पहुंचे तो उन्होंने व्यक्ति को सीढ़ियों पर काफी बुरी हालत में पाया क्योंकि उसका काफी खून बह चुका था. अधिकारी ने बताया कि व्यक्ति को नजदीकी अस्पताल और बाद में एम्स ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया गया. उसकी हालत अब स्थिर है.


error: Content is protected !!