बिलासपुर की स्मार्ट सिटी का होगा विस्तार, हटाया गया अतिक्रमण

शहर के पहले स्मार्ट रोड मिट्टीतेल गली से नेहरू नगर की ओर जाने वाले मार्ग का विस्तार किया जा रहा है। इसमें 170 मीटर सड़क के चौड़ीकरण के तहत कब्जा वाले 34 मकानों व 24 दुकानों को तोड़ने की कार्रवाई निगम अमले की ओर से शनिवार की सुबह की गई। इसके तहत सड़क चौड़ीकरण में सबसे बड़ी बाधा बन रहे एक धार्मिक स्थल को भी शिफ्ट किया गया।

नगर निगम की अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई के विरोध की आशंका को देखते हुए काम सुबह से शुरू कर दिया गया था। मालूम हो कि बलराम टाकीज रोड से नेहरू नगर तक आने वाले 170 मीटर लंबे पहुंच मार्ग को भी मिट्टी तेल लाइन स्मार्ट सड़क से जोड़ना है। ऐसे में 170 मीटर की इस सड़क को 70 फीट चौड़ा बनाने के साथ ही 10 फीट पाथ वे बनाना है।

जब इसके लिए नापजोख की गई तो इस सड़क में बने 34 मकान और 24 दुकानों के हिस्से अतिक्रमण के दायरे में मिले। इसे देखते हुए उन्हें पहले ही नोटिस दे दिया गया था। साथ ही अतिक्रमण हटाने से पहले यहां रहने वालों को इमलीभाठा में मकान आवंटित कर दिया गया था।

वहीं 15 दिन पहले रहवासियो को सामान शिफ्ट करने का समय दिया गया। इसके पहले पिछले शनिवार को इस रोड से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई की गई थी। वहीं बचे अतिक्रमण को इस शनिवार हटाने का काम किया गया है।

अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई बिना विवाद के चल रही थी। इस बीच गुरु घासीदास विद्यालय के परिसर में रहने वाले इसका विरोध किया। लेकिन यह विरोध ज्यादा देर तक नहीं चल पाया। पुलिस की मौजदगी में अतिक्रमण हटाने का काम चलता रहा। वहां रहने वालों का कहना था कि स्कूल का कुछ हिस्सा ही नापजोख में आया है, लेकिन पूरे निर्माण को ढहाने की साजिश की गई है।

मिट्टी तेल लाइन सड़क से नेहरू नगर पहुंच मार्ग तक का हिस्सा स्मार्ट सड़क में आ जाएगा, जिससे नेहरू नगर के मुख्य मार्ग से जुड़ जाएगा। ऐसे में भक्त कंवरराम नगर गेट से लेकर नेहरू नगर होते हुए नर्मदा नगर तक शहरवासियों को सर्वसुविधा युक्त चौड़ी सड़क मिलेगी।

Please Share this news:
error: Content is protected !!