डॉक्टर की पर्ची वायरल, लिखा पेड़ ठीक से लगाना ताकि भविष्य में ऑक्सीजन की कमी ना हो

देश और दुनिया कोरोना वायरस के कहर से जूझ रहे हैं। हर रोज लाशों के ऐसे अंबार देखने को मिल रहे हैं कि उनके अंतिम संस्कार को जगह कम पड़ जा रही है। भारत में कोरोना की जंग हार जाने वाले अधिकतर लोग ऑक्सीजन की कमी से मर जा रहे हैं। इस समय अस्पतालों में कोरोना मरीजों के बीच ऑक्सीजन सिलेंडर की मारा मारी है।

हर एक अस्पताल तक ऑक्सीजन की पर्याप्त सप्लाई का न होना एक बड़ा मुद्दा बन गया है। इस सब के बीच एक डॉक्टर ने अपने प्रिसक्रिप्शन में जो सुझाव दिया वो बेहद प्रेरणादायी है। दरअसल मुंबई के लोनावला में एक डॉक्टर ने मरीज के पर्चे पर मराठी में लिखा है- जब तुम ठीक हो जाओगे तो एक पेड़ लगाना तो कभी ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी।

यूं तो डॉक्टर का ये सुझाव ऐसा है जो हम सब बचपन से पढ़ते आ रहे हैं और उसकी अहमियत भी जानते हैं। लेकिन डॉक्टर ने पर्ची पर ऐसा लिखकर मानो एक बार फिर लोगों को जगाने की कोशिश की है कि वक्त रहते संभल जाओ और प्रकृति से खिलवाड़ बंद कर दो। 

इम्पोर्ट कराए जाएंगे ऑक्सीजन टैंकर

कोविड-19 संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों के बीच कई राज्यों में चिकित्सीय ऑक्सीजन की कमी के मद्देनजर केंद्र सरकार सिंगापुर और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) से ऑक्सीजन ले जाने में सक्षम उच्च क्षमता वाले टैंकर आयात करने के लिए बातचीत कर रही है और उसने राज्यों को बंद हो चुके संयंत्रों को ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए फिर से चालू करने का निर्देश दिया।

गृह मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने देश में कोरोना वायरस संबंधी हालात की समीक्षा की, जिसके बाद यह कदम उठाया गया। केंद्र ने अलग-अलग लिखे पत्रों में सभी राज्यों को निर्देश दिया कि वे अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में ऑक्सीजन उत्पादन करने वाले संयंत्रों की सूची तैयार करें और ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति एवं आवागमन सुनिश्चित करें।

error: Content is protected !!