प्रतिबंध के बाबजूद नेपाल भेजे जा रहे सफेद मुर्गे, खुले आम हो रही है तस्करी

Bhihar News: नेपाल में लाकडाउन व सरहद सील होने के के बाद भी भारतीय फार्मों के सफेद मुर्गे नेपाल भेजे जा रहे हैं। इन मुर्गों पर नेपाल में प्रतिबंध है। बावजूद इसके पगडंडी रास्तों से मुर्गों की खेप नेपाल जाने का सिलसिला जारी है। मुर्गा तस्करी के दो नाके इन दिनों खासे चर्चा में हैं। सौनौली कोतवाली क्षेत्र हरदीडाली व भगवानपुर गांव के रास्ते भारी संख्या में मुर्गों की खेप नेपाल भेजी जा रही है। हरदीडाली गांव में एसएसबी कैंप के उत्तर मात्र 100 मीटर की दूरी पर एक मुर्गा फार्म की आड़ में तस्करी हो रही है। यहां नेपाली नागरिक मुर्गी फार्म का संचालन करते हैं। खड़े मुर्गे के अलावा यहां से प्रतिदिन 30-40 क्विंटल कटे मांस भी नेपाल भेजे जा रहे हैं।

भगवानपुर सीमा से भी सफेद मुर्गे नेपाल भेजे जा रहे हैं। करीब एक माह पूर्व तस्करी कर नेपाल गए 60 क्विंटल मुर्गों को पकड़कर नेपाल पुलिस ने उन्हें नष्ट कर प्रतिबंधित मुर्गों की तस्करी पर लगाम लगाने की कोशिश की, लेकिन तस्करी अब भी जारी है।

मुर्गे का मीट नेपाल में है महंगा

भारतीय क्षेत्र में मुर्गे का मीट 230-250 रुपये प्रति किलोग्राम है, जबकि नेपाल में 320 -340 किलोग्राम है। प्रति किलोग्राम 70-80 रुपये के अंतर को तस्कर भुनाने में जुट गए हैं। क्षेत्राधिकारी नौतनवा कोमल प्रसाद मिश्रा ने बताया कि सीमावर्ती थानों को निर्देशित किया गया है, किसी भी हाल में मुर्गों की तस्करी नहीं होने दी जाएगी।

बच्चे को लेकर भाग रहा एक आरोपित गिरफ्तार

निचलौल थाना क्षेत्र के मुसहर गांव डोमा कांटी में नहर किनारे खेल रहे एक बच्चे को दो युवक चुराकर भागने लगे। इसी बीच बच्चे के दादा की नजर चोरों पर पड़ गई, जिसके बाद बुजुर्ग दादा ने बच्चे को बचाने के लिए शोर मचाते हुए चोरों के पीछे दौड़ लगानी शुरू कर दी। बुजुर्ग की आवाज सुन कई लोग चोरों के पीछे दौड़ने लगे। करीब पांच सौ मीटर दूर तक दौड़ाकर एक चोर को पकड़ लिया गया। जबकि दूसरा चोर मौके से फरार हो गया। ग्रामीणों ने पकड़े हुए चोर की पिटाई कर पुलिस को सुपुर्द कर दिया।

मछली दिखाने के बहाने ले जाने लगे डोमा फार्म के पीछे

डोमा कांटी टोला निवासी मुखलाल गुप्ता ने बताया कि पोता अमित गांव के निकट खड्डा नहर पुल पर पेड़ के नीचे कुछ बच्चों के साथ खेल रहा था। इसी बीच दो युवक आए और बच्चे को मछली दिखाने के बहाने डोमा फार्म के पीछे रास्ते लेकर जाने लगे। तब तक उनकी नजर पोता अमित पर पड़ गई। जब आरोपितों को रुकने के लिए कहा तो वह बच्चे को लेकर गन्ने के खेत के रास्ते भागने लगे। ग्रामीणों की मदद से एक चोर को पकड़ अमित को सुरक्षित बरामद कर लिया गया, जबकि एक चोर भागने में सफल रहा। प्रभारी निरीक्षक निर्भय कुमार सिंह ने बताया कि पकड़े गए चोर को थाने लाकर पूछताछ की जा रही है। आरोप सही पाए जाने पर आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Get delivered directly to your inbox.

Join 1,139 other subscribers

error: Content is protected !!