गैंगवार से दहली दिल्ली, रोहिणी कोर्ट परिसर में चली गोलियां, तीन की मौत

नई दिल्ली: देश की राजधानी दिल्ली एक बार फिर बड़े गैंगवार से दहल गई है। दिल्ली की रोहिणी कोर्ट में गैंगवार सामने आया है जिसमें गैंगस्टर जीतेंद्र गोगी की मौत हो गई।

पुलिस की जवाबी कार्रवाई में 2 सूटर भी मारे गए हैं। रोहिणी कोर्ट परिसर में हुई इस गैंगवार और पुलिस की कार्रवाई में कुल 3 लोगों की जान गई है। कोर्ट में हुए गैंगवार के बाद पूरे परिसर में अफरातफरी का माहौल बन गया था। फिलहाल स्थिति नियंत्रण में बताई जा रही है।

3 गैंगस्टर मारे गए

दिल्ली पुलिस की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार इस घटना में 3 गैंगस्टर मारे गए हैं, किसी और की मृत्यु या घालय होने की कोई सूचना नहीं है। उत्तरी रेंज के ज्वाइंट कमिश्नर को इस पूरी घटना की जांच करके रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा गया है।

एडिशनल सेशन जज के सामने हुई फायरिंग

सूत्रों मिली जानकारी के अनुसार जिस समय कोर्ट परिसर में फायरिंग हुई उस समय एडिशनल सेशन जज गगनदीप सुनवाई के लिए बैठे हुए थे। आज रोहिणी कोर्ट में जीतेंद्र गोगी की पेशी थी लेकिन पेशी से पहले ही 2 शूटर कोर्ट में पहले मौजूद थे, जब पेशी होती है तो उसके ऊपर फायरिंग होती है, बताया जा रहा है कि गोगी की मौके पर ही मौत हो गई है। पुलिस बल क्योंकि काफी संख्या में था, और पुलिस ने भी जवाबी कार्रवाई में शूटर पर फायरिंग की है और उनकी भी मृत्यु हो गई है। हालांकि फायरिंग बहुत ज्यादा हुई है और ऐसी आशंका है कि मौतों का आंकड़ा बढ़ सकता है। बता दें कि जीतेंद्र गोगी को 2 साल पहले ही स्पेशल सेल ने गुरुग्राम से गिरफ्तार किया था। सूत्रों का कहना है कि विरोधी गैंग ने जीतेंद्र पर हमला किया है।

वकील के वेष में कोर्ट परिसर में घुसे थे शूटर्स

मिली जानकारी के अनुसार जिन शूटर्स ने गैंगस्टर जीतेंद्र गोगी पर गोली चलाई है वे दोनों वकील के वेष में कोर्ट परिसर में घुसे थे और जैसे ही गोगी को पेशी के लिए कोर्ट के अंदर दाखिल किया गया, वैसे ही शूटर्स ने उसके ऊपर फायरिंग शुरू कर दी, गैंगस्टर पर शूटर्स ने कई राऊंड गोलियां चलाई जिस वजह से उसकी मौके पर ही मौत हो गई। माना जा रहा है कि जीतेंद्र गोगी की गैंग की विरोधी गैंग ने इस घटना को अंजाम दिया है। इस गैंगवार की वजह से दिल्ली के सभी कोर्ट में खौफ है और पुलिस ने दिल्ली के अधिकतर कोर्ट परिसर की सुरक्षा बढ़ा दी है।

बताया जा रहा है कि जिन हमलावरों ने जीतेंद्र गोगी पर फायरिंग की वह टिल्लू गैंग के सदस्य थे। इन शूटर्स का नाम जगदीप और राहुल बताया जा रहा है। राहुल 50000 का इनामी बदमाश था। बता दें की हाल में जितेंद्र उर्फ गोगी जिसकी मौत हुई है वह लॉरेश बिश्नोई, संपत नेहरा, काला जखेड़ी एक साथ मिलकर गैंग चला रहे थे। जबकि दूसरी तरफ टिल्लू जो तिहाड़ में बन्द है, वह नवीन बाली, कौशल, नीरज बबनिया एक साथ गैंग ऑपरेटर कर रहे थे।

दो गैंग के बीच पहले भी हुआ है गैंगवार

इस गैंगवार में मारा गया जितेंद्र गोगी दिल्ली के श्रद्धानंद कॉलेज से पढ़ चुका है और इलेक्शन भी लड़ चुका है। साल 2014 के आसपास जितेंद्र गोगी के गांव का एक लड़का कॉलेज के इलेक्शन में खड़ा हुआ था। उसी समय सुनील उर्फ टिल्लू का भी एक रिश्तेदार चुनाव लड़ा था। जिसके चलते सुनील उर्फ टिल्लू ने जितेंद्र गोभी के कैंडिडेट को धमकाया था और उसने अपना नॉमिनेशन वापस लेना पड़ा। जिसके चलते सुनील उर्फ टिल्लू का कैंडिडेट इलेक्शन जीत गया। इलेक्शन के बाद जितेंद्र गोगी और टिल्लू उर्फ सुनील में दुश्मनी हो गई थी। जिसके बाद यह दुश्मनी लगातार बढ़ती गई और दोनों गैंग ने एक दूसरे के गैंग के सदस्यों की हत्या भी की है।

एडिशनल सेशन जज के सामने हुई फायरिंग

सूत्रों मिली जानकारी के अनुसार जिस समय कोर्ट परिसर में फायरिंग हुई उस समय एडिशनल सेशन जज गगनदीप सुनवाई के लिए बैठे हुए थे। जीतेंद्र गोगी को 2 साल पहले ही स्पेशल सेल ने गुरुग्राम से गिरफ्तार किया था।

error: Content is protected !!