दिल्ली में कोरोना ने तोड़े अभी तक के सभी रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटे में 24, 235 नए मामले, 395 की मौत

दिल्ली में कोरोना के हालात में गुरुवार को भी कोई विशेष सुधार होता नहीं दिखा। दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना के 24, 235 नए मामले सामने आए हैं और 395 लोगों की मौत हुई है। अब दिल्ली में एक्टिव संक्रमित मरीजों की संख्या 97, 977 हो गई है। बीते 24 घंटे में 25, 615 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। इस समय दिल्ली में 53, 440 लोग होम आइसोलेशन में अपना इलाज करा रहे हैं, जबकि बीते 24 घंटों में दिल्ली में कुल 73, 851 सैंपल की कोरोना जांच की गई है, वहीं मृत्यु दर 1.40 % के आस-पास है। अगर पॉजिटिविटी रेट की बात करें तो वह लगातार 30 से 35 प्रतिशत के बीच बनी हुई है। वहीं मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में कोरोना वैक्सीनेशन अभियान को लेकर गुरुवार को अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। सीएम ने कहा कि दिल्ली में तीन महीने के भीतर 18 वर्ष से अधिक उम्र की पूरी आबादी को वैक्सीन लगाई जाएगी। दिल्ली में बड़े पैमाने पर वैक्सीनेशन केंद्र स्थापित किए जाएंगे। सामुदायिक केंद्रों और स्कूलों के अंदर भी वैक्सीनेशन सेंटर बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन बनाने वाली कंपनियों को इसका ऑर्डर दे दिया गया है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि मई की शुरुआत से वैक्सीन मिलनी शुरू हो जाएगी।

कोरोना वैक्सीन की कमी के चलते कई राज्यों ने खड़े किए हाथ
जहां देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर से तबाही मची हुई है वहीं दूसरी ओर 1 मई से शुरू हो रहे 18 साल के ऊपर के लोगों के टीकाकरण कार्यक्रम को बड़ा झटका लगा है। कोरोना वैक्सीन की कमी के चलते कई राज्यों ने हाथ खड़े कर दिए हैं।गौरतलब है कि, देश में कोरोना वायरस के ऐसे माहौल में यदि मोदी सरकार के कोरोना टीकाकरण अभियान को झटका लगता है तो हालात और बिगड़ सकते हैं। वहीं कई अलग-अलग अध्ययनों में बताया गया है कि देश में 1 मई से कोरोना वायरस की दूसरी लहर अपनी पीक पर होगी। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के पास कोविड-19 टीके की एक करोड़ से अधिक खुराक उपलब्ध हैं और उन्हें अगले तीन दिनों में 20 लाख खुराक और मिलेंगी। वहीं केंद्र सरकार 45 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए टीके उपलब्ध कराना जारी रखेगी।

error: Content is protected !!