दीपशिखा ने दोस्तों के साथ मिलकर जबरदस्ती बनाया युवती का अश्लील एमएमएस, सोशल मीडिया पर वायरल

पुरानी रंजिश की वजह से एक युवती द्वारा दूसरी की लज्जा इंटरनेट मीडिया पर उछालने का मामला प्रकाश में आया है। रंजिश की आग में जल रही एक युवती ने अपने युवक दोस्तों के साथ मिलकर दूसरी युवती की अश्लील व अर्धनग्न वीडियो बनाकर उसे इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया है। आश्चर्यजनक यह घटना सिलीगुड़ी शहर से सटे माटीगाड़ा इलाके में घटी है। पीड़ित युवती की शिकायत पर माटीगाड़ा थाना पुलिस ने एक युवती समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इस योजना में शामिल अन्य लोगों की तलाश पुलिस कर रही है।

कहते हैं औरत ही औरत की सबसे बड़ी दुश्मन होती है। इस घटना ने पूरी तरह से इस कहावत को चरितार्थ किया है। पुलिस ने आरोपितों के नाम दीपशिखा तमांग (28) और राजेश लिंबू बताया गया है। आरोपितों को सिलीगुड़ी अदालत में पेश किया गया। अदालत ने दोनों आरोपितों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। आरोपितों में शामिल दीपशिखा पड़ोसी राज्य सिक्किम और राजेश दार्जिलिंग का निवासी बताया गया है। पीड़िता भी सिक्किम की निवासी है। बल्कि आरोपित दीपशिखा और पीड़िता पहले सहेली थी। काम के सिलसिले में दोनों सिलीगुड़ी से सटे माटीगाड़ा थाना क्षेत्र इलाके में किराए पर रहती हैं। किसी बात को लेकर इन दोनों के बीच पिछले काफी समय से एक रंजिश चल रही है।

रंजिश की आग में जल रही दीपशिखा ने अपने दोस्त राजेश व अन्य के साथ मिलकर जोर-जबरदस्ती पीड़िता के घर पहुंचे। पहले पीड़िता के साथ दीपशिखा का काफी विवाद हुआ। विवाद में दोनों के बीच के बीच हाथापाई भी हुई। इसी क्रम में दीपशिखा ने राजेश के साथ मिलकर पीड़िता के शरीर का कपड़ा उतारा। फिर उसका अश्लील विडियो बनाया। बाद में उस वीडियो को इंटरनेट मीडिया पर अपलोड कर अपने दोस्तों की सहायता से वायरल करा दिया।

वीडियो वायरल होने की जानकारी मिलते ही पीड़िता माटीगाड़ा थाना पुलिस की शरण में पहुंची और घटना के खिलाफ लिखित शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद पुलिस ने दीपशिखा और राजेश को गिरफ्तार किया। इस संबंध में सिलीगुड़ी मेट्रोपोलिटन पुलिस के एसीपी (डीडी) राजेन छेत्री ने बताया कि पीड़िता को बदनाम करने के इरादे से ही अश्लील वीडियो बनाकर वायरल कराया गया था। पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। जिसमें एक युवती शामिल है। इस घटना से जुड़े अन्य लोगों की तलाश जारी है।

error: Content is protected !!