आरक्षण और एससी एसटी एक्ट की शवयात्रा से भड़के दलित संगठन, पहुंचे उपायुक्त कार्यालय

ऊना: आरक्षण और एससी/एसटी एक्ट की शवयात्रा के विरोध में महर्षि वाल्मीकि यूथ एकता महासभा और अनुसूचित जाति संगठन तल्ख हो गए हैं। शनिवार को गुस्साए संगठनों ने रविवार को ऊना पहुंच रही शवयात्रा का विरोध किया तथा एमसी पार्क ऊना में एकत्रित होकर रोष प्रदर्शन किया।

हाथों में नीले झंडे लेकर डीसी कार्यालय तक रोष रैली भी निकाली गई। इस दौरान डीसी ऊना राघव शर्मा को ज्ञापन सौंपकर ब्राह्मण कल्याण सोसायटी, रजनीश ठाकुर तथा सवर्ण संगठन से जुड़े रोमित ठाकुर के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज करने की मांग उठाई गई।

महर्षि वाल्मीकि यूथ एकता महासभा हिमाचल प्रदेश के मुख्य प्रधान संचालक अमित कुमार दोधी, प्रधान सन्नी गिल, चेयरमैन रमन नाहर, उपाध्यक्ष वीरेंद्र कुमार, तब्बु बैंस, रजत, वाल्मीकि स्वाभिमान संगठन सचिव शिव कुमार व युवा नेता रवि बस्सी ने बताया कि बीते कुछ दिनों से भारतीय संविधान में निहित आरक्षण और एससी/एसटी एक्ट की शवयात्रा को कुछ सवर्ण संगठन से जुड़े लोग निकाल रहे हैं। अब हरिद्वार में जाने के बाद ये संगठन से जुड़े नुमाइंदे जिला ऊना में अराजकता फैलाने के लिए पहुंचेंगे।

उन्होंने कहा कि पहले ही प्रदेश में भाईचारे को दोफाड़ कर दिया है। अनुसूचचित समाज की भावनाओं को ऐसा करके सवर्ण संगठनों ने ठेस पहुंचाई है। सोशल मीडिया पर अनुसूचित जातियों के खिलाफ, संविधान निर्माता बाबा साहब के नाम आदि को भी अभद्रता से ले रहे हैं, चेतावनी दे रहे हैं। ऐसा कतई बर्दाशत नहीं किया जाएगा। ऐसे संगठनों के खिलाफ आपराधिक मामला दर्ज होना चाहिए।

Please Share this news:
error: Content is protected !!