आधार कार्ड और पेन कार्ड की वेरिफिकेशन के नाम पर साइबर अपराधी कर सकते है आपका एकाउंट खाली

साइबर अपराध के जरिए साइबर अपराधियों ने लोगों को ठगने का एक नया तरीका खोजा है।  एसएमएस भेजकर ठग बड़ी रकम बैंक खाते में डालने की जानकारी देते हैं।  इसके साथ ही, वे एक लिंक भी भेजते हैं, जिसके जरिए आधार या पैन कार्ड को सत्यापित करने का झांसा दिया जाता है।  जैसे ही कोई व्यक्ति उस लिंक पर क्लिक करता है, उसके अपने बैंक खाते के बारे में जानकारी साइबर अपराधी के पास चली जाती है और वो बैंक से रकम उड़ा देते है।

हिमाचल में हाल ही में ऐसे कई ठगी के मामले सामने आए हैं।  जिसमें आधार पैन वेरिफिकेशन के नाम पर एक लिंक भेजकर ठगने का प्रयास किया गया है।  इन मामलों के सामने आने के बाद, राज्य साइबर अपराध पुलिस ने लोगों को सलाह जारी की है।  एडिशनल एसपी साइबर क्राइम नरवीर राठौर ने कहा कि लोगों को किसी भी अनजान नंबर से भेजे किसी लिंक या मैसेज पर भरोसा नहीं करना चाहिए, न ही किसी अनजान लिंक पर क्लिक करना चाहिए।

लिंक पर क्लिक करने पर, उनका फोन भी हैक किया जा सकता है और सारी जानकारी साइबर अपराधी तक पहुंच सकती है।  इसके अलावा, किसी भी अनजान व्यक्ति से ऑनलाइन संपर्क पर कभी भी व्यक्तिगत जानकारी साझा न करें।

Please Share this news:
error: Content is protected !!