By Election: 3 लोकसभा और 29 विधानसभा सीटों पर मतों की गिनती जारी

देश के कई राज्यों की 3 लोकसभा सीटों और 29 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के रिजल्ट के लिए मंगलवार को वोटों की गिनती शुरू हो गई है। इस चुनाव में कई दिग्गजों की प्रतिष्ठा भी दांव पर लगी है।

मध्य प्रदेश की तीन सीटों में से एक पर बीजेपी आगे है। मेघालय में नेशनल पीपुल्स पार्टी और यूनाइटेड डेमोक्रेटिक पार्टी एक-एक सीट पर आगे हैं। राजस्थान में कांग्रेस एक सीट पर आगे चल रही है, जबकि मिजोरम की एक सीट पर जोरम पीपुल्स मूवमेंट आगे चल रही है।सिंदागी में बीजेपी करीब 3,000 वोटों से आगे चल रही है। कांग्रेस को 2,054 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 5,255 वोट मिले हैं। कर्नाटक के हनागल उपचुनाव में कांग्रेस, बीजेपी से 182 वोटों से आगे चल रही है। शुरुआती गिनती में कांग्रेस को 4,478 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 4,296 वोट मिले हैं।

सिंदागी में बीजेपी करीब 3,000 वोटों से आगे चल रही है। कांग्रेस को 2,054 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 5,255 वोट मिले हैं। कर्नाटक के हनागल उपचुनाव में कांग्रेस, बीजेपी से 182 वोटों से आगे चल रही है। शुरुआती गिनती में कांग्रेस को 4,478 वोट मिले हैं, जबकि बीजेपी को 4,296 वोट मिले हैं।

2018 के चुनावों में मनागुली के बाद दूसरे स्थान पर आए रमेश भूषणूर सिंदगी से भाजपा के उम्मीदवार हैं, जबकि हंगल निर्वाचन क्षेत्र से शिवराज सज्जनर इसके उम्मीदवार हैं। कांग्रेस ने एमसी मनागुली के बेटे अशोक मनागुली को सिंदगी से अपने उम्मीदवार के रूप में नामित किया है, जबकि पूर्व एमएलसी श्रीनिवास माने हंगल से इसके उम्मीदवार हैं।

हरियाणा में इनेलो नेता अभय चौटाला की किस्मत का फैसला भी आज के परिणाम से ही सामने आएगा। चौटाला ने तीन कृषि कानूनों के विरोध में विधानसभा की सदस्ता से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद ये उपचुनाव हुआ है। इनके अलावा हिमाचल से पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र सिंह की पत्नी प्रतिभा सिंह, पूर्व राष्ट्रीय फुटबॉलर यूजीनसन लिंगदोह और तेलंगाना के पूर्व मंत्री एटाला राजेंद्र के भाग्य का फैसला भी आज ही होगा।

इन उपचुनावों में 50 प्रतिशत से 80 प्रतिशत तक की वोटिंग दर्ज की गई है। असम की पांच, पश्चिम बंगाल में चार, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और मेघालय में तीन-तीन, बिहार, कर्नाटक और राजस्थान में दो-दो और आंध्र प्रदेश, हरियाणा, महाराष्ट्र, मिजोरम, तेलंगाना की एक-एक सीट विधानसभा की सीटों पर उपचुनाव हुए हैं।

29 विधानसभा सीटों में से छह भाजपा के पास, नौ कांग्रेस के पास, जबकि बाकी क्षेत्रीय दलों के पास थी। तीन लोकसभा सीटों- दादरा और नगर हवेली, हिमाचल प्रदेश में मंडी और मध्य प्रदेश में खंडवा सीटों पर मौजूदा सदस्यों की मृत्यु के बाद उपचुनाव हो रहे हैं।

निर्वाचन आयोग के अनुसार यहां 75 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया है। यह लोकसभा सीट अनुसूचित जाति के लिए सुरक्षित है। यहां के मौजूदा सांसद मोहन देलकर की मृत्यु के कारण यहां उपचुनाव हुआ है, देलकर 23 फरवरी को मुंबई के एक होटल में मृत मिले थे। इस उपचुनाव में तीन उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है। देलकर की पत्नी कलाबेन देलकर को शिवसेना ने मैदान में उतारा है। जबकि बीजेपी ने महेश गावित और कांग्रेस ने महेश ढोड़ी को टिकट दिया है।

बिहार में दो सीटों के लिए उपचुनाव हो रहे हैं। दोनों सीट पर विधायकों की मृत्यु के बाद उपचुनाव हुए हैं। पहले ये दोनों सीटें जदयू के पास थीं। इन चुनावों में कांग्रेस ने महागठबंधन से अलग अपने खुद के उम्मीदवार उतारे हैं।

खंडवा लोकसभा सीट पर 63.88 प्रतिशत मतदान हुआ है, जबकि रैगांव, पृथ्वीपुर एवं जोबट तीनों विधानसभा क्षेत्रों में औसतन मतदान 65.33 प्रतिशत हुआ है। इन चार सीटों में से खंडवा लोकसभा सीट और रैगांव विधानसभा सीट पर भाजपा का कब्जा था, जबकि जोबट एवं पृथ्वीपुर विधानसभा सीटें कांग्रेस के पास थीं। खंडवा लोकसभा सीट भाजपा सांसद नंदकुमार सिंह चौहान के निधन से खाली हुई है।

error: Content is protected !!