कानपुर हादसा; मुख्यमंत्री योगी ने की मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये सहायता देने की घोषणा

कानपुर में मंगलवार रात हुए टेंपो और बस में भीषण टक्कर में 16 लोगों की जान चली गई जबकि 5 लोग घायल बताए जा रहे हैं। मरने वाले सभी टेंपो सवार थे जो बिस्कुट फैक्ट्री में काम करने के लिए जा रहे थे। प्रदेश के मुख्यमंत्री सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दर्दनाक हादसे पर दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए दिवंगत आत्मा की शान्ति की कामना की है।

सीएम योगी ने हादसे में मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करने की घोषणा की है। उन्होंने इस सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करते हुए समुचित इलाज की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि उच्चाधिकारी मौके पर पहुंचकर युद्धस्तर पर राहत कार्य सुनिश्चित कराएं। उन्होंने जिला प्रशासन को दुर्घटना के कारणों की जांच कर आख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं।

आपको बता दें कि यहा यह हादसा इतना भीषण था कि टेंपो के परखचे उड़ गए। मरने वाले सभी टेंपो सवार थे जो बिस्कुट फैक्ट्री में काम करने के लिए जा रहे थे। हादसे की सूचना मिलते ही कानपुर आउटर पुलिस फोर्स मौके पर पहुंची और घायलों आनन-फानन लोडर और पुलिस की गाड़ियों से हैलट पहुंचाया गया। रात के अंधेरे की वजह से बचाव काम भी देर से शुरू हो पाया।

बताया जाता है कि सक्तेपुर निवासी टेंपो चालक मान सिंह बिस्कुट बनाने वाली फैक्ट्री के लिए काम करता है। वह रोज रात में 17-18 कर्मियों को लेकर फैक्ट्री जाता था। मंगलवार को भी वह कर्मचारियों को लेकर फैक्ट्री जा रहा था। किसान नगर के पास सामने से आ रही पीतांबरा ट्रेवल्स की बस ने टेंपो में जोरदार टक्कर मार दी। बस फजलगंज से अहमदाबाद जाने के लिए निकली थी। बस और टेंपो हादसे के बाद सड़क किनारे सात फीट गहरे गड्ढे में पलट गए। टेंपो के परखच्चे उड़ गए। वहीं, बस में बैठी सवारियों को भी चोट आईं।

हादसे की सूचना पर एसपी आउटर एपी सिंह फोर्स के साथ मौके पहुंचे। राहत कार्य के दौरान बस के नीचे और टेंपो के नीचे दबे लोगों को बाहर निकालकर हैलट भेजा गया। हैलट में आईजी मोहित अग्रवाल और एडिशनल सीपी कानून व्यवस्था आकाश कुलहरि ने पहले से ही स्ट्रेचर और डॉक्टरों की टीम के साथ अलर्ट खड़े रहे। जैसे ही घायलों को लेकर गाड़ियां पहुंचीं उनका तुरंत इलाज शुरू हो गया।

शिनाख्त करने का प्रयास
मृतकों का शिनाख्त के लिए पुलिस उनके दस्तावेजों और आईडी कार्ड को इकट्ठा कर रही है। बिस्कुट फैक्ट्री के मालिक को सूचना भिजवाई गई है। उनके जरिए मृतकों और घायलों के परिजनों को सूचना दी जा रही है।


error: Content is protected !!