चुनावों से पहले आम लोगों को चन्नी सरकार का तोहफा, बिजली की दरों में प्रति यूनिट 3 रुपये की कटौती

Punjab Cabinet Big Decision पंजाब में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार ने आम लोगों को दिवाली का तोहफा दिया है. दरअसल, पंजाब सरकार ने सोमवार को बिजली की दरों में प्रति यूनिट तीन रुपये की कटौती का एलान किया है.

दरअसल, पंजाब सरकार ने सोमवार को बिजली की दरों में प्रति यूनिट तीन रुपये की कटौती का एलान किया है. पंजाब कैबिनेट ने सभी स्लैबों में बिजली दरों में 3 रुपये की कटौती करने का फैसला किया है.

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा कि छोटे उपभोक्ताओं के लिए 1.19 रुपये की नई दर होगी. नई दरें सोमवार से ही लागू हो जाएंगी. इस दौरान आम आदमी पार्टी (AAP) के संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के मुफ्त बिजली के चुनावी वादे पर तंज कसते हुए चरणजीत चन्नी ने कहा कि उनकी सरकार के सर्वेक्षण से सामने आया कि लोग सस्ती बिजली चाहते थे, मुफ्त बिजली नहीं.

सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने बताया कि पंजाब में 72 लाख उपभोक्ता है और इनमें से करीब 95 फीसदी उपभोक्ताओं को इस योजना से लाभ मिलेगा. मुख्यमंत्री ने दावा करते हुए कहा कि यह देश में सबसे कम बिजली की दरें होंगी. बताया जा रहा है कि कैबिनेट की बैठक के बाद चरणजीत सिंह चन्नी की सरकार चुनावी मोड में नजर आई. इसी के मद्देनजर बिजली की दरों में कटौती के बाद पंजाब सरकार के कर्मचारियों के लिए महंगाई भत्ते यानि डीए में 11 फीसदी की बढ़ोतरी की घोषणा की. इसके लिए 440 करोड़ रुपये आवंटित किए जाएंगे.

बता दें कि इससे पहले मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने पंजाब के लोगों को वाजिब दरों पर निर्विघ्न बिजली आपूर्ति के लिए शनिवार को जीवीके गोइंदवाल साहिब बिजली खरीद समझौता रद्द करने के पंजाब स्टेट पावर कारपोरेशन लिमिटेड यानि पीएसपीसीएल के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी. साथ ही पावरकॉम ने कंपनी को टर्मिनेशन नोटिस भी जारी कर दिया था. उल्लेखनीय है कि पावरकॉम की ओर से बिजली समझौता रद्द करने के लिए जीवीके को शुरुआती तौर पर डिफाल्ट नोटिस जारी किया जा चुका है.

error: Content is protected !!