Treading News

Caste Census: बिहार में होगी जाति आधारित जनगणना, कर्मियों को दिए गोपनीयता के निर्देश

पूर्णिया। जातीय जनगणना कराने का फैसला कर चुकी नीतीश सरकार ने इस का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है। जातीय जनगणना के काम में किन लोगों को लगाया जाएगा सरकार ने इस पर भी फैसला कर लिया है।

राज्य के सरकारी शिक्षक, लिपिक, मनरेगा, आंगनबाड़ी, जीविका दीदी जातीय गणना का काम करेंगे। इन्हें प्रगणक कहा जायेगा। इन कर्मियों को गणना की गोपनीयता हर हाल में सुनिश्चित करनी होगी। विभागीय अधिकारियों से मिली जानकारी अनुसार प्रगणक गणना करने वाले इलाके का नक्शा और ले-आइट स्केच करेंगे। मकान नंबर को सुनिश्चित करेंगे। मोबाइल ऐप में और प्रपत्र में आंकड़ों को भरेंगे। व्यक्तिगत आंकड़ों में किसी भी तरह के बदलाव या छेड़छाड़ नहीं करेंगे। कोई मकान, कस्बा या क्षेत्र छूटे नहीं इसका ख्याल रखेंगे।

गणना के काम में यदि कोई व्यक्ति जानबूझकर गलत जानकारी देता है या फिर जानकारी देने से इनकार करता है तो गणना कर्मी इसकी जानकारी चार्ज अधिकारी को देंगे जो वे संबंध में निर्धारित कार्रवाई करेंगे। यदि कोई गणना कार्य के लिए विभिन्न मकानों- स्थानों पर अंकित चित्र या सूचना हटाता है तो भी पदाधिकारी ही इस संबंध में निर्धारित कार्रवाई करेंगे। जातीय गणना करने वाले सभी अधिकारियों और कर्मियों की ड्यूटी और जवाबदेही जिला पदाधिकारी द्वारा तय किया जाना है। सरकार ने जातीय गणना के सफल क्रियान्वयन के लिये सभी जिलों के डीएम को प्रधान गणना अधिकारी सह नोडल पदाधिकारी अधिसूचित करते हुए उनके अधीन गणना करने वाले सभी अधिकारियों और कर्मियों को चिन्हित कर उनके कामों का बंटवारा कर दिया है।

सामान्य प्रशासन विभाग ने सभी डीएम को इस संदर्भ में पत्र लिखा है जिसमें कहा गया है की 6 जून से जातीय गणना का काम शुरू हो चुका है। अपर जिला गणना अधिकारी का काम डीएम को सभी अपेक्षित कार्यों में सहयोग करना है। अनुमंडल गणना पदाधिकारी 6 गणना क्षेत्र पर एक पर्यवेक्षण क्षेत्र का निर्धारण करेंगे। चार्ज अधिकारी को ट्रेनिंग करायेंगे। डीएम के निर्देशों का पालन सुनिश्चित करायेंगे।

चार्ज अधिकारी पर्यवेक्षण क्षेत्रों का निर्धारण, बुनियादी दस्तावेजों की तैयारी करेंगे। जातीय जनगणना के लिए जिला अधिकारियों को प्रधान गणना अधिकारी नोडल पदाधिकारी नियुक्त किया गया है। इसके अलावा एडीएम जिला कल्याण और जिला सांख्यिकी पदाधिकारियों को अपर गणना पदाधिकारी बनाया गया। अनुमंडल पदाधिकारी को अनुमंडल गणना पदाधिकारी का प्रभार दिया गया है जबकि नगर आयुक्त और कार्यपालक पदाधिकारी नगर चार्ज अफसर के तौर पर काम करेंगे।

Comments: