विदेशी फण्ड से 100 से ज्यादा लोगों का धर्मांतरण करवाने पर नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज

गुजरात के भरूच जिले के एक गांव के आदिवासियों को विदेश में एकत्रित धन का इस्तेमाल कर धर्मांतरण कराने के लिए कथित तौर पर प्रलोभन देने का मामला सामने आया है। इस मामले में लंदन में रहने वाले एक स्थानीय व्यक्ति सहित नौ लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी।

आमोद थाना के एक अधिकारी ने बताया कि भरूच जिले के आमोद तालुका के कांकरिया गांव के निवासी ‘वासवा हिंदू’ समुदाय के 37 परिवारों के 100 से अधिक आदिवासियों को पैसे और अन्य प्रलोभन देकर अपना धर्म बदलने के लिए कहा गया।

अधिकारी ने कहा, ”आरोपियों ने कमजोर आर्थिक स्थिति और आदिवासी समुदाय के सदस्यों की निरक्षरता का फायदा उठाकर उन्हें इस्लाम धर्म अपनाने का लालच दिया।” उन्होंने कहा कि सभी नौ आरोपी स्थानीय निवासी हैं। एक आरोपी वर्तमान में लंदन में रह रहा है और उसकी पहचान फेफड़ावाला हाजी अब्दुल के रूप में हुई है, जिसने इस उद्देश्य के लिए विदेश से धन एकत्र किया था।

भरूच पुलिस ने एक बयान में कहा, “विदेश से एकत्र किए गए धन का उपयोग करके मुस्लिम कट्टरपंथियों द्वारा अवैध धार्मिक रूपांतरण गतिविधि गांव में लंबे समय से चल रही थी। आरोपी व्यक्तियों ने दो समुदायों के सदस्यों के बीच दुश्मनी फैलाने और शांति को प्रभावित करने के लिए रची गई आपराधिक साजिश के तहत वसावा हिंदू समुदाय के सदस्यों को पैसे और अन्य मदद की पेशकश करके उन्हें धोखे से इस्लाम में परिवर्तित करने के लिए लालच दिया।”

एफआईआर में कहा गया है कि भरूच जिले के नबीपुर के मूल निवासी, जो वर्तमान में लंदन में रहता है, फेफड़ावाला हाजी अब्दुल धर्म परिवर्तन के लिए विदेशों से धन एकत्र करता है।

पुलिस ने बताया कि नौ लोगों के खिलाफ गुजरात धर्म की स्वतंत्रता (संशोधन) कानून के साथ-साथ भारतीय दंड संहिता की धारा 120 (बी) (आपराधिक साजिश),153 (बी)(सी)(वैमनस्यता फैलाने की आशंका) और 506 (2)(आपराधिक धमकी) के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!