“बाबा का ढाबा” वाला बाबा रेस्टोरेंट छोड़ कर फिर पहुंचा अपने पुराने ढाबे पर, कहा, मैं यहां ही खुश

‘बाबा का ढाबा’ वाले कांता प्रसाद ने अपना नया रेस्टोरेंट घाटे की वजह से बंद कर दिया है. कांता प्रसाद ने लोगों से मदद मिलने के बाद पिछले साल दिसंबर में रेस्टोरेंट खोला था. अब उनका कहना है कि एक लाख रुपये का निवेश कर के जो रेस्टोरेंट उन्होंने शुरू किया था, उससे वो महज़ 35 हज़ार ही कमा सके. इसलिए उन्होंने इसे बंद करने का फैसला किया है.

कांता प्रसाद ने कहा कि मैं अपने पुराने ढाबे को चलाकर खुश हूं, क्योंकि यहां ग्राहकों की अच्छी संख्या है.

उन्होंने कहा, “मैं इस ढाबा को तब तक चलाउंगा जब तक मैं ज़िंदा हूं. जिस दिन कारोबार गिरने लगेगा, मैं इसे बंद कर दूंगा. मैंने पिछले साल डोनेशन में मिले पैसों में से 20 लाख रुपये अपने और अपनी पत्नी के लिए रखें हैं.”

पिछले साल सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था वीडियो

आपको बता दें, पिछले साल अक्टूबर में बाबा का ढाबा वाले कांता प्रसाद का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था. कोरोना के चलते आर्थिक तंगी से बुजुर्ग दंपत्ति बेहद परेशान थे. जिसके बाद एक यूट्यबूर ने उनका वीडियो सोशल मीडिया पर लोगों के साथ शेयर किया था.

वीडियो में रोते हुए कांता प्रसाद बताते दिखे थे कि वो सुबह 4 बजे उठकर लोगों के लिए खाना बनाते हैं, लेकिन उनका खाना दिन भर में खप नहीं पाता. उनके पास ग्राहक नहीं है. 100 रुपये भी वो कमा नहीं पाते. जिसके बाद उन्हें लोगों ने खूब सपोर्ट किया और लाखों रुपये दान किए थे.


error: Content is protected !!