फिल्लौर में थानेदार की बेटी के कपड़े फाडे, जान बचाने के लिए भागी तो किया तलवार और पत्थरों से हमला

फिल्लौर में कुछ लड़कों ने जिला लुधियाना में तैनात एक थानेदार की बेटी को बीच रास्ते रोक कर उसके कपड़े फाड़ डाले। जब महिला ने भागने की कोशिश की तो उसका पीछा कर उस पर तलवारों व पत्थरों से हमला कर दिया। पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में जिला लुधियाना में तैनात थानेदार की बेटी ने कहा कि उसकी आठ माह की बेटी है। वह अपने पिता के घर पर रहने आई थी। गत दिनों उसकी बेटी की तबीयत ठीक नहीं थी तो वह अपने रिश्ते में लगते भाई के साथ फिल्लौर में डाक्टर के पास चेकअप करवाने आई। शाम चार बजे जब वह स्कूटरी से वापस अपने गांव गन्ना पिंड जा रही थी तो रास्ते में उसे उसी के गांव के रहने वाले गुरप्रीत गोपू व लव ने रोक लिया।

इससे पहले कि वह उनसे उसे रोकने का कारण पूछती गुरप्रीत गोपा ने उसके भाई से मारपीट शुरू कर दी। जब वह बीच-बचाव करने आई तो लव ने उसके कपड़े फाड़ डाले।

जब वह और उसका भाई जान बचाने के लिए घर की ओर भागे तो उक्त युवकों ने तेजधार हथियार लेकर उनका पीछा किया और उन पर ईंट-पत्थर चलाने शुरू कर दिए। इस दौरान रास्ते में खड़ी एक कार का शीशा टूट गया। पुलिस ने इस मामले में गोपा, लव व उसके चार अन्य साथियों के विरुद्ध केस दर्ज किया है।

Please Share this news:
error: Content is protected !!