कश्मीर में एक और भाजपा नेता का कत्ल, उमर अब्दुल्ला ने की घटना की कड़ी निंदा

दक्षिण कश्मीर में मंगलवार दोपहर अज्ञात बंदूकधारियों ने एक और बीजेपी नेता जावेद अहमद की गोली मारकर हत्या कर दी। पिछले एक सप्ताह में दक्षिण कश्मीर में किसी भाजपा नेता की यह दूसरी हत्या है। जावेद को आतंकियों ने होमशालीबाग में उनके घर के बाहर गोली मारी। घटना के बाद बीजेपी नेता को अस्पताल ले जाया जा रहा था लेकिन रास्ते में ही मौत हो गई।

बताया जा रहा है कि 30 साल के जावेद को कई गोलियां लगीं थी। नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने घटना की निंदा की है। उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट कर कहा कुलगाम से बुरी खबर, जावेद अहम की हत्या कर दी गई है। मैं इस आतंकी हमले की निडरता से निंदा करता हूं और जावेद के परिवार और सहयोगियों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं। अल्लाह उन्हें जन्नत में जगह दे। बीजेपी नेता की हत्या पर पार्टी के प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने कुलगाम में पार्टी ने नेता की हत्या की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि अहमद दार पार्टी के युवा नेता थे और कुलगाम निर्वाचन क्षेत्र के प्रभारी थे। ठाकुर ने पार्टी निर्वाचन क्षेत्र अध्यक्ष की हत्या को बर्बर करार दिया। 

उन्होंने पुलिस से हत्यारों को पकड़ने और उन्हें कड़ी सजा देने की अपील करते हुए कहा कि आतंकवादी हताश महसूस कर रहे हैं और बेगुनाहों को निशाना बना रहे हैं। निहत्थे लोगों की हत्या से कुछ नहीं होगा। 10 अगस्त को, अनंतनाग शहर में आतंकवादियों ने भाजपा सरपंच गुलाम रसूल डार और उनकी पत्नी जवाहीरा बानो की हत्या कर दी थी। 

डार कुलगाम जिले के भाजपा किसान मोर्चा के अध्यक्ष थे और जिले के रेडवानी गांव के सरपंच के रूप में भी कार्यरत थे। उनकी पत्नी भी इसी गांव की पंचायत की सदस्य थीं। घटना स्थल पर मौजूद नहीं होने को लेकर डार के पीएसओ को निलंबित कर दिया गया। टीआरएफ ने हत्या की जिम्मेदारी ली थी।

भाजपा ने दावा किया कि साल 2020 में उसके 19 नेता मारे गए और अब तक पूरे कश्मीर में विभिन्न आतंकवादी हमलों में 21 की जान चुकी है। बता दें कि राज्य के अधिकांश भाजपा नेताओं को सरकार द्वारा सुरक्षा प्रदान की गई है और वे सुरक्षित स्थानों पर रहते हैं।

error: Content is protected !!