लूट के आरोपी की गिरफ्तारी पर भिड़े पुलिस और वकील,अदालत में करना चाहता था आत्मसमर्पण

छत्तीसगढ़। शुक्रवार को दोपहर करीब डेढ़ बजे जजी परिसर में एक वकील के बस्ते से लूटकांड के आरोपी को ले जाने के मामले में पुलिस और वकीलों में भिड़ंत हो गई। वकीलों ने जमकर हंगामा काटा और पुलिस की गिरफ्त से आरोपी को छुड़ा लिया। बाद में उसे अदालत में हाजिर कर दिया।

अधिवक्ता बरदानी प्रजापति ने बताया कि थाना कुरारा कस्बे में पिछले तीन जुलाई को हुई लूट की घटना में थाना सिसोलर गांव निवासी रूप सिंह अहिरवार को पुलिस ने मुख्य साजिशकर्ता बनाया है। शुक्रवार को रूप सिंह गांव से ऑटो पर बैठकर आया है। सुबह से जजी परिसर में चाय की दुकान पर बैठा रहा। उसे कोर्ट में सरेंडर करना था। दोपहर में वह दुकान से उसे अपनी बाइक में बैठाकर जजी में अपने बस्ते पर पहुंचे। तभी पीछे से आए बाइक सवार दो सादे कपड़ों में रहे पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया और करीब 150 मीटर घसीटते रजिस्ट्रार कार्यालय के बाहर खड़ी एक प्राइवेट स्कॉर्पियो कार में बैठा लिया।

इस घटना को देख वकीलों का गुस्सा फूट पड़ा। एकत्र वकीलों ने हंगामा करते हुए कार में बैठे आरोपी को छुड़ा लिया। इस बीच घटना का वीडियो बना रहे कुछ लोग के मोबाइल वकीलों ने छीन लिए और उनके साथ मारपीट की। जजी परिसर के आसपास करीब 40 मिनट तक अफरा तफरी का माहौल रहा। वकीलों ने बताया कि सुबह से कुरारा थाना व स्वाट टीम की पुलिस सादे कपड़ों में घूम रही थी।
घटना की जानकारी होने पर मौके पर सीओ सदर अनुराग सिंह भी पहुंचे। उन्होंने जजी परिसर में तैनात पुलिस कर्मियों से घटना की जानकारी ली। इस मामले में सीओ ने कहा लूटकांड के आरोपी की लोकेशन जजी परिसर में मिलने पर पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। उन्होंने कहा अदालत में आरोपी को चाहे वकील पहुंचाए या पुलिस बात एक ही है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

error: Content is protected !!