Adani Mundra Port: कच्छ में पकड़ी गई 9 हजार करोड़ की हेरोइन, तस्करी में सामने आया अफगान कनेक्शन

गुजरात के कच्छ के मुंद्रा पोर्ट पर हेरोइन की बड़ी खेप पकड़ी गई है। राजस्व खुफिया निदेशालय (डीआरआई) की ओर से पकड़े गए ड्रग्स की कीमत करीब 9000 करोड़ रुपये बताई जा रही है। पोर्ट पर दो कंटेनर्स में लगभग 3000 किलो हेरोइन बरामद की गई है। इसके साथ-साथ दो लोगों को गिरफ्तार भी किया गया है।

सरकारी एजेंसी ने कहा कि हेरोइन, जिसे टैल्क ले जाने दो कंटेनरों में रखा गया था। डीआरआई ने कहा कि एक कंटेनर में लगभग 2,000 किलोग्राम (4,409 पाउंड) हेरोइन और दूसरे में लगभग 1,000 किलोग्राम की खेप अफगानिस्तान से आई थी और इसे ईरान के एक बंदरगाह से गुजरात भेज दिया गया था।

हेरोइन की बड़ी खेप मिलने के बाद हरकत में आई जांच एजेंसी ने गुजरात के अहमदाबाद, दिल्ली, चेन्नई, गांधीधाम और मांडवी में तलाशी ली गई है। सोमवार को एक विशेष अदालत ने हेरोइन की मुंद्रा बंदरगाह से बरामदगी के मामले में गिरफ़्तार दक्षिण भारत की दम्पति को आज ख़ुफ़यिा राजस्व निदेशालय को आगे की जांच और पूछताछ के लिए दस दिन की रिमांड पर सौंप दिया।

डीआरआई के वकील के सी गोस्वामी ने पत्रकारों को बताया कि ईरान के बंदर अब्बास बंदरगाह के रास्ते दो कंटेनर में मंगाई गई इस हेरोइन को विजयवाड़ा की जिस मेसर्स आशी ट्रेडर्ज़ नाम की कम्पनी ने टेलकम स्टोन के नाम पर आयात किया था उसके मालिक मच्छावरम सुधाकर और उनकी पत्नी सह भागीदार दुर्गपूर्णा वैशाली को 17 सितंबर को ही गिरफ़्तार कर लिया गया था। उन्हें ट्रैंजिट  रिमांड पर गुजरात के कच्छ जिले में लाकर जेल में न्यायिक हिरासत में रखा गया है।

error: Content is protected !!