लिंकडिन पर हैकर्स ने किया बड़ा साइबर अटैक, ऑनलाइन बिक रहा 756 मिलियन यूज़र्स का डाटा

सोशल नेटवर्किंग प्लेटफॉर्म लिंकडिन में बड़ा डाटा लीक की खबर है। रिपोर्ट के मुताबिक LinkedIn के 756 मिलियन यूजर्स का डाटा लीक हो गया है जिसे लेकर कहा जा रहा है कि इस लीक में LinkedIn के करीब 92 फीसदी यूजर्स के डाटा शामिल हैं, हालांकि डाटा लीक करने वाले हैकर्स के बारे में अभी तक कोई जानकारी सामने नहीं आई है। LinkedIn के इस डाटा लीक में यूजर्सके फोन नंबर, एड्रेस, लोकेशन और सैलरी जैसी निजी जानकारी शामिल हैं।

इससे पहले इसी साल अप्रैल में LinkedIn ने खुद 500 मिलियन यूजर्स के डाटा लीक के बारे में पुष्टि की थी। उस लीक में भी ई-मेल एड्रेस से लेकर मोबाइल नंबर, पूरा नाम, अकाउंट आईडी, सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी और ऑफिस की पूरी जानकारी लीक हुई थी। इस डाटा लीक को भी ऑनलाइन हैकर्स फोरम पर लिस्ट किया गया था।

इस डाटा लीक पर LinkedIn का कहना है कि कोई डाटा लीक नहीं हुआ है। यह डाटा नेटवर्क स्क्रैप करके निकाली गई है, हालांकि लिंकडिन ने यह जरूर कहा है कि वह मामले की जांच कर रही है। लिंकडिन ने शुरुआती जांच के बाद कहा है कि किसी लिंकडिन मेंबर का निजी डाटा लीक नहीं हुआ है। कंपनी का कहना है कि डाटा स्क्रैप करना लिंकडिन की प्राइवेसी पॉलिसी का उल्लंघन है।

नई डाटा लीक में शामिल 700 मिलियन यूजर्स की जानकारी डार्क वेब पर बिक रही है। हैकर्स ने डार्क वेब के पब्लिक डोमेन में एक मिलियन यूजर्स का डाटा पोस्ट किया है। RestorePrivacy ने इस डाटा लीक के बारे में सबसे पहले जानकारी दी है।

वहीं 9to5Google ने इस डाटा लीक को लेकर हैकर्स से भी संपर्क किया है। हैकर्स ने बताया है कि उसने LinkedIn API के जरिए इस डाटा को निकाला है। लीक डाटा सीट में यूजर्स के पासवर्ड शामिल नहीं हैं। अब सभी यूजर्स के लिए यह जरूरी है कि वे अपने अकाउंट की सिक्योरिटी जांच कर लें। इसके अलावा यूजर्स को अपना पासवर्ड भी रीसेट करना चाहिए। यदि टू फैक्टर ऑथेंटिकेशन ऑन नहीं है तो उसे ऑन करना चाहिए।

Get delivered directly to your inbox.

Join 61,615 other subscribers

error: Content is protected !!