कोरोना का कहर; छह साल की मासूम से सिर से हटा पिता का हाथ, रिश्तेदारों ने किया अपनाने से इंकार

कोरोनावायरस संक्रमण के कारण छह साल की मासूम के सिर से पिता का साया हट गया। मां भी अलग रहती है। वह इस कदर अकेली पड़ गई है कि चाचा और बुआ तक उसके पिता को पहचनने से इनकार कर रहे हैं। बच्ची मकान मालिक के पास थी। गुरुवार को नगर निगम की टीम बच्ची को जांच कराने के लिए ले गई। जांच के बाद उसे पाटलिपुत्र आइसोलेशन सेंटर में भर्ती करा दिया है। पिता का सिर से हाथ क्या हटा छह साल की मासूम अनाथ हो गई। उसके लिए खून के रिश्ते भी पानी हो गए।

पिता की मौत के बाद प्रशासन ने किया अंतिम संस्‍कार

गौरतलब हो कि रामकृष्णा नगर थाना क्षेत्र की मधुबन कॉलोनी के रोड नंबर पांच निवासी प्रभात कुमार चार-पांच दिनों से सर्दी, जुकाम, बुखार से पीड़ित थे।

मंगलवार की शाम वह सोए तो उठे नहीं। उनके साथ घर पर अकेले छह साल की बेटी थी। उसे नहीं पता था कि उसके पिता की मौत हो चुकी है। प्रभात के दोस्त राजेश ने बुधवार की दोपहर वीडियो कॉल कर बच्ची को उनके पिता को दिखाने को कहा। राजेश को शक हुआ तो उन्होंने कोविड हेल्पलाइन नंबर पर फोन किया। मौके पर पहुंची टीम अंतिम संस्कार के लिए शव को ले गई और बच्ची को मकान मालिक को सौंप दिया।

सूचना देने पर स्‍वजन बोले- दोबारा फोन मत कीजिएगा

इधर, मूल रूप से नालंदा के इस्लामपुर निवासी प्रभात कुमार का अंतिम संस्कार गुरुवार को मकान मालिक मनोहर की उपस्थिति में हो गया। मनोहर के अनुसार प्रभात की दो बहनें कुम्हरार में रहती हैं। उन दोनों को फोन करके प्रभात के गुजर जाने की जानकारी दी गई। साथ ही उनके दो भाइयों को भी बताया गया। मगर सभी ने कोई बात नहीं सुनी और कहा, अब दोबारा फोन मत करिएगा।

नाना-नानी भी नहीं आए लेने, गई आइसोलेशन सेंटर

बुधवार की रात बच्ची ने मनोहर को बताया कि वह नाना-नानी से लगातार संपर्क में है और उसने पिता के गुजर जाने की बात भी बताई। मनोहर को उम्मीद थी कि नाना-नानी आएंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। पुलिस ने प्रभात के फ्लैट में ताला लगाकर मकान मालिक को चाबी अपने पास सुरक्षित रखने को कहा है।

error: Content is protected !!