रिपोर्ट: पिछले साल में 6 लाख नागरिकों ने छोड़ी भारत की नागरिकता, 1 करोड़ 33 लाख भारतीय रहते है विदेशों में

मंगलवार को लोकसभा में यह जानकारी दी गई कि पिछले पांच सालों में 6 लाख से ज़्यादा भारतीयों ने अपनी नागरिकता छोड़ दी है. केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय ने लोकसभा को जानकारी देते हुए कहा कि पिछले सालों में, 6 लाख से ज़्यादा लोग भारत की नागरिकता छोड़ चुके हैं. उन्होंने यह भी कहा कि विदेश मंत्रालय के पास उपलब्ध जानकारी के अनुसार, कुल 1,33,83,718 भारतीय नागरिक विदेशों में रह रहे हैं.

एक प्रश्न का लिखित उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि 2017 में 1,33,049 भारतीयों ने नागरिकता छोड़ दी थी, वहीं 2018 में 1,34,561 लोगों ने भारतीय सदस्यता छोड़ी. 2019 में 1,44,017 भारतीयों ने अपनी सदस्यता छोड़ी, 2020 में 85,248 लोगों ने और इस साल 30 सितंबर, 2021 तक 1,11,287 भारतीय अपनी नागरिकता छोड़ चुके हैं.

देश में NRC की स्थिति को लेकर टीएमसी सांसद माला रॉय ने सवाल पूछा था. इसके जवाब में नित्यानंद राय ने कहा कि अभी तक सरकार ने राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय नागरिकों का राष्ट्रीय रजिस्टर (NRC) तैयार करने का फैसला नहीं लिया है. उन्होंने ये भी बताया कि जहां तक असम का सवाल है तो सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर NRC में शामिल और शामिल नहीं किए गए लोगों की लिस्ट 31 अगस्त 2019 को जारी कर दी गई है.

Please Share this news:
error: Content is protected !!