कुल्लू लगघाटी में आग से चार मंजिला मकान स्वाह; 7 परिवार के 31 सदस्य बेघर

कुल्लू जिला के अंतर्गत आती लगघाटी के दूरदराज गांव जेठानी में अग्निकांड से 28 कमरों का 4 मंजिला काष्ठकुणी शैली का मकान जलकर राख हो गया है। इस घटना में 7 परिवारों के 31 सदस्य बेघर हो गए हैं। यह घटना दोपहर बाद पेश आई जब ग्रामीण खेतों में खेतीबाड़ी का काम कर रहे थे। ग्रामीणों ने मकान से धुआं निकलते देखा। वहीं आग लगती देख जेठानी गांव के साथ लगते आसपास के गांवों के लोग भी आग को बुझाने के लिए मौके पर पहुंचे। ग्रामीणों ने अग्निशमन विभाग को घटना सूचना दी। सूचना मिलते ही अग्निशमन विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे और आग बुझाने में जुट गए। मकान काष्ठकुणी शैली का होने के कारण देखते ही देखते राख के ढेर में तबदील हो गया।

इस घटना में शेर सिंह, द्रविंद्र सिंह, महावीर सिंह, सागर सिंह, राजेंद्र सिंह, माली देवी व रोशन लाल के परिवार के 31 सदस्य बेघर हुए है। हादसे के बाद घटनास्थल पर पुलिस की टीम, राजस्व विभाग की टीम भी पहुंची। उधर, सदर विधायक सदर सुंदर सिंह ठाकुर भी मौके पर पहुंचे उन्होंने सभी पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाया और पीड़ित परिवार को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों को पीड़ित परिवार को राहत सामग्री और फौरी मदद के निर्देश दिए।

भल्याणी पंचायत की प्रधान पिंगला देवी व वार्ड सदस्य शेर सिंह ने बताया कि दोपहर बाद अचानक मकान में आग लगी उसके बाद ग्रामीणों ने आग को बुझाने के लिए कड़ी मशक्कत की लेकिन लकड़ी का मकान होने से पूरा मकान जलकर राख हो गया। वहीं पीड़ित शीला देवी ने बताया कि वह दोपहर को कपड़े धो रही थी कि अचानक घर के कमरे से धुआं निकला और उसके बाद जब देखा तो दीवार में आग लग गई थी और देखते ही देखते आग छत तक फैल गई। घर के अंदर रखे सोने-चांदी के गहने, बर्तन व बिस्तर सहित अन्य सामान जल गया है। तन पर पहने कपड़ों के सिवाय कुछ भी बचाया नहीं जा सका।

फायरमैन राम चंद ने कहा कि आग लगने की सूचना मिलते ही घटनास्थल की ओर रवाना हुए। घटना स्थल पहुंचने पर फायरटैंडर 17 डिलीवरी होज जोड़कर घटना स्थल तक पानी पहुंचाया, जिसके बाद कड़ी मशक्कत से आग पर काबू पाया। 4 मंजिला मकान में 28 कमरे थे, जिसमें करीब 60 लाख रुपए का अनुमानित नुक्सान हुआ है।

error: Content is protected !!