भारतीय सेना के फर्जी आई कार्ड के साथ देहरादून में 3 लोग गिरफ्तार

देहरादून: उत्तराखंड स्पेशल टास्क फोर्स ने राष्ट्रीय सुरक्षा से खिलवाड़ करने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश कर तीन लोगों को गिरफ्तार किया है, ये लोग भारतीय सेना के फर्जी डिस्चार्ज बुक व पर्सनल आई कार्ड तैयार करते थे. आर्मी इंटेलिजेंस के सहयोग से की गई इस कार्रवाई में एसटीएफ ने गिरफ्तार किए तीन अभियुक्तों के कब्जे 300 से अधिक फर्जी डिस्चार्ज बुक, आई कार्ड और 20 से अधिक सैन्य अधिकारियों की जाली मोहरे बरामद की है.

गिरफ्तार किए गए आरोपियों में एक अभियुक्त प्रिंटिंग प्रेस का मालिक बताया जा रहा है, जो फर्जी एक्स आर्मी की डिस्चार्ज बुक को प्रिंटिंग करता था. सेना के फर्जी दस्तावेजों के आधार पर विदेश भेजने वाले एजेंटों की भी तलाश शुरू हो गई है. गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों से पूछताछ में पता चला है कि इनका काफी लंबा चौड़ा नेटवर्क है.

ऐसे में उत्तराखंड एसटीएफ और आर्मी इंटेलिजेंस इस गिरोह के तार से जुड़े अन्य लोगों की जानकारी जुटाकर उनकी धरपकड़ में जुटी है. इतना ही नहीं एसटीएफ के निशाने में अब वे लोग भी है जो अफगानिस्तान , इराक जैसी गल्फ देशों सहित अन्य देशों में फर्जी आर्मी दस्तावेजों के आधार पर संबंधित कंपनियों को गुमराह कर लाखों रुपए की फीस वसूल रहे थे.

जाली दस्तावेज तैयार कर फर्जीवाड़ा करने वाला गिरोह एक एक्स आर्मी डिस्चार्ज बुक व पर्सनल आईडी कार्ड का 40 से 50 हज़ार रुपये वसूल कर तैयार करता था. एसटीएफ की इस बड़ी कार्रवाई में ये भी जानकारी सामने आई है कि पिछले दिनों एक साथ 100 से अधिक फर्जी सैन्य दस्तावेज तैयार कर सबसे अधिक नेपाल मूल के युवकों को अफगानिस्तान, इराक में ब्रिटिश सेना के पास सिक्योरिटी गार्ड में भेजा गया.

Please Share this news:
error: Content is protected !!