सीआईडी देख कर पुरानी प्रेमिका के बेटे को मार डाला; पुलिस ने किया गिरफ्तार

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में दिल को झकझोर देने वाला एक मामला सामने आया है, जहाँ शादी की चाहत में 10 साल के बच्चे का बेरहमी से हत्या कर दी गई। जिस महिला से एक युवक ने प्यार किया, उसी के 10 वर्षीय बेटे को किडनैप कर मार दिया क्योंकि पति से अलग रह रही महिला ने बेटे की वजह से उस युवक से शादी करने से इनकार कर दिया था। बच्चे की हत्या करने के बाद आरोपी महिला की सहानुभूति बटोरने के लिए उसकी खोजबीन का ड्रामा करता रहा। हालांकि, पुलिस की जांच में उसका भेद खुल गया और वह पुलिस के हत्थे चढ़ गया। आरोपी ने बताया कि उसने सीआईडी सीरियल देखकर बच्चे को अगवा कर मारने की साजिश रची थी। आरोपी की पहचान 22 साल के बिट्‌टू के तौर पर हुई जो मैदानगढ़ी के संजय कॉलोनी भाटी माइंस इलाके का रहने वाला है।

दक्षिणी दिल्ली के डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने बताया कि संजय कॉलोनी निवासी एक महिला ने करीब 10 साल के बेटे की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी। उसने बताया बेटा शाम 4 बजे जनरल स्टोर पर कुछ सामान लेने के लिए गया था, जो वापस नहीं लौटा। उसकी काफी खोजबीन की लेकिन कुछ पता नहीं चला। पुलिस ने किडनैपिंग का केस दर्ज कर लिया। मैदानगढ़ी के SHO जतन सिंह की टीम ने मामले की जांच शुरु की। महिला से बात करने पर पता चला उसका पति से विवाद चल  रहा है। बच्चे की कस्टडी को लेकर भी झगड़ा था। बच्चे का पति उसे कई बार अपने घर भी ले जा चुका था, लेकिन बाद में उसकी मां अपने साथ ले आई। इस सिलसिले में बच्चे के माता-पिता दोनों से ही बात की गई लेकिन कोई क्लू नहीं मिला।

इस बीच,  24 दिसंबर को रिज इलाके में तालाब से सड़ी हालत में बच्चे की लाश मिली. वह महिला का ही बेटा निकला। टेक्निकल सर्विलांस की मदद से पुलिस ने महिला के जानकार बिट्‌टू नाम के युवक को हिरासत में ले लिया। उससे पूछताछ की गई जिसके बाद बच्चे की मौत का राज खुल गया। आरोपी ने खुलासा किया कि वह महिला के बेहद नजदीक था। उससे शादी करना चाहता था लेकिन घर वालों ने उस युवती की शादी किसी दूसरे से करा दी। ऐसा होने से वह बहुत दुखी था क्योंकि वह महिला से प्यार करता था।

दो साल बाद इस महिला का अपने पति से विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ गई कि दोनों अलग-अलग रहने लगे। महिला अपने मायके रहने लगी। पति- पत्नी का विवाद होने से उसे एक बार फिर महिला के नजदीक आने का मौका मिल गया। वह महिला के घर जाने लगा। बच्चे से भी दोस्ताना व्यवहार करने लगा। बिट्‌टू ने महिला से शादी का ऑफर दिया लेकिन उसने बेटे के कारण ऐसा करने से मना कर दिया। इस कारण यह बच्चा बिट्‌टू की आंखों में खटकने लगा।

बिट्‌टू ने सीआईडी सीरियल देख इस बच्चे को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया। 28 नवंबर को वह बच्चे को कुछ खिलाने के बहाने ग्रामीण सेवा से मैदानगढ़ी इलाके के जंगल में ले आया, जहां उसने गमछे से बच्चे का गला घोंट दिया। इसके बाद तालाब में बच्चे की लाश फेंक दी। बाद में घर लौट वह बच्चे की खोजबीन का ड्रामा करता रहा। अगले दिन आरोपी फिर मौके पर पहुंचा। जहां उसने देखा कि शिवम की लाश तालाब में नजर आ रही है। उसने शव को बाहर निकाल पत्थर के नीचे छिपा दी। इसके बाद पचास रुपए का पेट्रोल खरीदकर लाया और शव जलाने की कोशिश की। गीले कपड़े और कम पेट्रोल होने की वजह से वह शव को नहीं जला सका। इसके बाद वह चला गया। अगले दिन वह फिर मौके पर गया, जहां उसने बच्चे के कपड़े और जूते निकाल दिए और शव  को प्लास्टिक बैग में रखकर तालाब में फेंक दिया।

Please Share this news:
error: Content is protected !!