Right News

We Know, You Deserve the Truth…

मई के 21 दिनों में ही रिकॉर्ड 71.3 लाख संक्रमित, 83,721 मौतें; पहली लहर के मुकाबले आंकड़े ढाई गुना से ज्यादा

देश में कोरोना के मामले भले ही कम होने लगे हैं, लेकिन मई के महीने में महामारी ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है। अगर मई के 21 दिनों की बात करें, तो देश में रिकॉर्ड 71.3 लाख लोग संक्रमित हुए और 83,721 लोगों की मौत हुई। यह आंकड़ा एक महीने में मिलने वाले संक्रमितों और मौत के मामले में सबसे ज्यादा है। इससे पहले अप्रैल में 69.36 लाख लोग कोरोना की चपेट में आए थे और 48,879 लोगों की मौत हुई थी।

पहली लहर में सबसे ज्यादा प्रभावित महीना सितंबर 2020 से तुलना करें, तो इस दौरान 26.22 लाख लोग ही कोरोना की चपेट में आए थे और 33,273 लोगों की मौत हुई थी। यानी पहली लहर दौरान सबसे प्रभावित महीना सितंबर की तुलना में दूसरी लहर के दौरान मई में संक्रमितों और मौत के मामले में करीब 2.5 गुना की बढ़ोतरी हुई है।

बीते दिन 2.57 लाख केस
देश में बीते दिन 2 लाख 57 हजार 299 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। यह आंकड़ा पिछले 35 दिनों में सबसे कम है। इससे पहले 16 अप्रैल को 2.34 लाख संक्रमितों की पहचान हुई थी। राहत की बात है कि इस दौरान 3 लाख 57 हजार 625 लोग ठीक भी हुए। हालांकि, रोज हो रहीं मौतों का आंकड़ा फिर 4 हजार के पार पहुंच गया। देश में शुक्रवार को 4,194 लोगों ने इस महामारी से जान गंवाई।

एक्टिव केस, यानी इलाज करा रहे मरीजों की संख्या में 1 लाख 4 हजार 595 की गिरावट दर्ज की गई। देश में फिलहाल 29 लाख 18 हजार 282 कोरोना संक्रमितों का इलाज चल रहा है। बीते 24 दिनों में पहली बार एक्टिव केसों का आंकड़ा 30 लाख के नीचे आया है। इससे पहले 27 अप्रैल को 29.72 लाख एक्टिव केस थे।

बीते दिन रिकॉर्ड 20.66 लाख टेस्ट
भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक, भारत में शुक्रवार को कोरोना वायरस के लिए रिकॉर्ड 20 लाख 66 हजार 285 सैंपल टेस्ट किए गए। यह एक दिन किए गए टेस्ट के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 20 मई को 20.61 लाख टेस्ट किए गए थे। अब तक कुल 32 करोड़ 64 लाख 84 हजार 155 सैंपल टेस्ट किए जा चुके हैं।

देश में कोरोना महामारी आंकड़ों में

  • बीते 24 घंटे में कुल नए केस आए: 2.57 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल ठीक हुए: 3.57 लाख
  • बीते 24 घंटे में कुल मौतें: 4,194
  • अब तक कुल संक्रमित हो चुके: 2.62 करोड़
  • अब तक ठीक हुए: 2.30 करोड़
  • अब तक कुल मौतें: 2.95 लाख
  • अभी इलाज करा रहे मरीजों की कुल संख्या: 29.18 लाख

19 राज्यों में लॉकडाउन जैसी पाबंदियां
देश के 19 राज्यों में पूर्ण लॉकडाउन जैसी पाबंदियां हैं। इनमें हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़, ओडिशा, मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, मिजोरम, गोवा, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और पुडुचेरी शामिल हैं। यहां पिछले लॉकडाउन जैसे ही कड़े प्रतिबंध लगाए गए हैं।

13 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन
देश के 13 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में आंशिक लॉकडाउन है। यानी यहां पाबंदियां तो हैं, लेकिन छूट भी है। इनमें पंजाब, जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, उत्तराखंड, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम, मेघालय, नगालैंड, असम, मणिपुर, त्रिपुरा, आंध्र प्रदेश और गुजरात शामिल हैं।

  • भारत में मई अंत तक रूस की कोविड-19 वैक्सीन स्पुतनिक-V की 30 लाख डोज पहुंचने की उम्मीद है। वहीं, जून तक 50 लाख डोज की सप्लाई हो जाएगी। रूस में भारत के राजदूत डी बाला वेंकटेश वर्मा ने कहा कि अगस्त से भारत में स्पुतनिक-V का उत्पादन शुरू होने की उम्मीद है। उन्होंने कहा कि सिंगल डोज वाली स्पुतनिक लाइट के लिए भी रूस ने प्रपोजल दिया है, भारत में अभी इसे मंजूरी मिलनी बाकी है। स्पुतनिक-V वैक्सीन का आयात हैदराबाद की कंपनी डॉ. रेड्डीज लैबोरेटरी कर रही है।
  • कोरोना के बीच म्यूकर माइकोसिस यानी ब्लैक फंगस खतरनाक होता जा रहा है। गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान, मध्यप्रदेश और उत्तर प्रदेश समेत 15 राज्यों में ही अब तक ब्लैक फंगस के 9,320 मामले सामने आ चुके हैं। वहीं 235 लोगों की मौत हो चुकी है। सबसे ज्यादा 5000 हजार मामले तो अकेले गुजरात में ही सामने आए हैं। इस संक्रमण के चलते कुछ मरीजों की आंख तक निकालनी पड़ रही है।
  • ब्लैक फंगस को हरियाणा ने सबसे पहले महामारी घोषित किया था। उसके बाद राजस्थान ने भी इस संक्रमण को महामारी एक्ट में शामिल कर लिया। फिर केंद्र सरकार ने भी सभी राज्यों के कहा कि ब्लैक फंगस को पेन्डेमिक एक्ट के तहत नोटिफाई किया जाए। इसके बाद उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, चंडीगढ़, हिमाचल प्रदेश, तेलांगना और तमिलनाडु भी ब्लैक संक्रमण को महामारी घोषित कर चुके हैं।
  • इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) के मुताबिक, कोरोना की दूसरी लहर में संक्रमण की चपेट में आने से 420 डॉक्टरों की जान गई है। इसमें दिल्ली के 100 डॉक्टर भी शामिल हैं। इसके अलावा बिहार में 96, उत्तर प्रदेश में 41 डॉक्टरों की कोरोना के चलते मौत हुई है। आंध्र प्रदेश में 26, असम में 3, गुजरात में 31, गोवा में 2, हरियाणा में 2, महाराष्ट्र में 15 और मध्यप्रदेश में 13 डॉक्टरों ने जान गंवाई। सबसे कम आंकड़ा पंजाब और पुडुचेरी में है, यहां एक-एक डॉक्टर की मौत हुई है।

प्रमुख राज्यों के हाल
1. महाराष्ट्र

यहां शुक्रवार को 29,644 लोग संक्रमित पाए गए। 44,493 लोग ठीक हुए और 1,263 लोगों की मौत हो गई। अब तक राज्य में 55.27 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 50.70 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 86,618 लोगों की मौत हो गई। 3.67 लाख मरीजों का अभी इलाज चल रहा है।2. उत्तर प्रदेश
यहां शुक्रवार को 7,682 लोग संक्रमित पाए गए। 17,668 लोग ठीक हुए और 172 लोगों की मौत हो गई। अब तक राज्य में 16.59 लाख लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें 15.34 लाख ठीक हो चुके हैं, जबकि 18,760 मरीजों ने दम तोड़ दिया। यहां 1.06 लाख मरीजों का इलाज चल रहा है।3. दिल्ली
दिल्ली में शुक्रवार को 3,009 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। 7,288 लोग ठीक हुए और 252 की मौत हो गई। अब तक 14.12 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 13.54 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 22,831 मरीजों की मौत हो चुकी है। यहां 35,683 का इलाज चल रहा है।4. छत्तीसगढ़
यहां शुक्रवार को 4,943 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए। 9,867 लोग ठीक हुए और 96 की मौत हो गई। अब तक राज्य में 9.41 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 8.52 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 12,391 मरीजों की मौत हो चुकी है। 76,446 मरीजों का इलाज चल रहा है।5. गुजरात
राज्य में शुक्रवार को 4,251 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। 8,783 लोग ठीक हुए और 65 की मौत हो गई। अब तक 7.80 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 6.86 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 9,469 मरीजों की मौत हो चुकी है। यहां 84,421 लोगों का इलाज चल रहा है।6. मध्यप्रदेश
राज्य में शुक्रवार को 4,384 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए। 9,405 लोग ठीक हुए और 79 की मौत हो गई। अब तक 7.57 लाख लोग संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें 6.82 लाख लोग ठीक हो चुके हैं, जबकि 7,394 लोगों की मौत हो चुकी है। 67,625 मरीज ऐसे हैं जिनका इलाज चल रहा है।

error: Content is protected !!