ग्रेटर नोएडा के गांव कैलाशपुर में दहेज में गाड़ी और 10 लाख रुपये की मांग पूरी नहीं होने पर आठ महीने की गर्भवती को ससुराल वालों ने जान से मारने का प्रयास किया। आरोप है कि उसके सिर पर लोहे की रॉड से हमला किया गया। बेसुध होने पर उस पर पेट्रोल छिड़ककर आग लगाने की कोशिश की। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

बुलंदशहर के गांव ढकोली के रहने वाले हसमत अली ने दो बेटियों गुफराना व फरजाना का निकाह गांव शोराजपुर में रहने वाले कबीर व शाहरुख के साथ नवंबर 2019 को किया था। बेटियों के निकाह में दहेज में कार और पांच लाख 60 हजार रुपये दिए थे। आरोप है कि बेटी के ससुराल पक्ष के लोगों ने अपना नया व्यवसाय शुरू करने के लिए दहेज में 10 लाख और वैगनआर कार की मांग शुरू कर दी। 

आरोप है कि उनकी दोनों बेटियों के साथ मारपीट कर ससुराल पक्ष के लोगों ने भगा दिया। इसके बाद उन्होंने पांच लाख बेटियों के ससुरालवालों को दिए। इसके बावजूद भी ससुराल के लोग और दहेज की मांग पर अड़े रहे। आरोप है कि 25 मार्च की शाम को सास, ससुर, पति, जेठ शहनाद और सोनू ने बेटी गुफराना के कमरे में घुसकर मारपीट की और फिर अप्राकृतिक यौन शोषण करने लगे।

विरोध करने पर सिर पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। बेसुध होने पर उसके ऊपर पेट्रोल डालकर जलाने की कोशिश की। शोर मचाने पर पड़ोस के लोग मौके पर पहुंचे तो आरोपी फरार हो गए। दोनों बहनों ने इसकी सूचना पुलिस ओर परिजनों को दी। पीड़िता को उपचार के लिए दादरी के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

error: Content is protected !!