ऊना में लाइसेंस हथियारों का अपराध में प्रयोग करने वालों के लाइसेंस होंगे कैंसिल -अर्जित सेन ठाकुर

Read Time:3 Minute, 15 Second

पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन ठाकुर, जिला ऊना में कानून एवं व्यवस्था पर प्रैस कान्फ्रैंस हुई। पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन ठाकुर ने कहा इस वर्ष प्रथम तिमाही के दौरान गत वर्ष 2020 के तुलना में बलात्कार सड़क दुर्घटनाओं, चोरी, सेंधमारी की घटनाओं में कमी आई है। जिला ऊना मे हुई चोरी एवं हत्याओं की मामले की जांच पुलिस द्वारा की जा रही है व शीघ्र ही इन घटनाओं मे संलिप्त लोगों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि जिला ऊना में कुछ दिन पहले दुकानों के शटर तोड़कर हुई चोरी में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। ऊना पुलिस द्वारा 268 ऐसे लोगों की सूची तैयार कर आगामी कार्यवाही हेतु जिलाधीश कार्यालय को सोंपी गई है। जिनके पास हथियार का लाईसैंस है व जिनके खिलाफ मुकदमे पंजीकृत है, ताकि उनके खिलाफ उचित कार्यवाही की जा सके। इसके अतिरिक्त 231 लोगों के खिलाफ अपराधन निवारक धाराओं (107/151 एवं 107/150 Cr.PC ) के तहत मामले दर्ज कर संबधित उपमण्डलाधिकारी को भेजे गये हैं।

पुलिस अधीक्षक अर्जित सेन, ऊना

आपराधिक और लाइसेंस शुदा हथियारों के साथ हुए अपराधों पर बोलते हुए उन्होंने बताया कि पिछले साल 18 केस दर्ज हुए और और आज तक बहुत कम केस रजिस्टर हुए जानी आधे की जिनकी संख्या सिर्फ 9 है। चिंता का विषय यह है कि इन केस में हमें यह पाया कि लाइसेंस वेपन का प्रयोग किया गया है, एक केस को छोड़ दें जिसमें डकैती हुई है। उसमें हम आरोपी को नहीं पकड़ पाए हैं। उसको पकड़ने में हम जल्दी सफल होंगे ऊना में लगभग 5000 लाइसेंस शुदा हथियार है, कोई उनका इस्तेमाल गलत तरीके से से करेगा तो हम लाइसेंस कैंसिल करने की सिफारिश करेंगे। हमने पुलिस की एक टीम बनाई है जिसमें हेड कॉन्स्टेबल से लेकर इंस्पेक्टर सब इंस्पेक्टर सभी को दो-दो पंचायतें दी रखी है और वह जाकर प्रधानों से, बैंक, पेट्रोल पंप, मंदिर में जाएंगे और पता करेंगे कि अगर कोई भी समस्या सामने आती है तो उसकी तुरंत कार्यवाही की जाएगी और इसको मॉनिटर करने के लिए एक सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन बनाई गई है जिसमें हम फोटोग्राफ लोकेशन शेयर करते हैं और लोगों को मॉनिटर करते हैं।

error: Content is protected !!
Hi !
You can Send your news to us by WhatsApp
Send News!