डाबा मोहल्ला आदर्श कॉलोनी में रहने वाले पंडित पवन जोशी (37) ने संदिग्ध हालात में आत्महत्या कर ली। उसने दो विवाह किए हुए थे। अब उसकी दोनों पत्नियां एक -दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। एक पत्नी ने थाने में सुसाइड नोट दिया है कि यह उसके पति ने मरने से पहले लिखा था, जबकि दूसरी पत्नी का कहना है कि यह नोट उसके पति की नहीं है। हालांकि उस पर लिखने वाले के दस्तखत नहीं हैं। लिहाज़ा थाना डाबा की पुलिस ने पवन जोशी की लाश कब्ज़े में लेकर सिविल अस्पताल में रखवा दी है। अब पुलिस सुसाइड नोट और दोनों पत्नियों की तरफ से लगाए जा रहे आरोपों की जांच कर रही है।

जानकारी मुताबिक पवन जोशी के पहली पत्नी से 3, जबकि दूसरी से 2 बच्चे थे। दोनों अलग-अलग घरों में रहती थीं। पवन कभी पहली पत्नी तो कभी दूसरी के पास जा कर रहता थी। फ़िलहाल, इतने दिनों वह अपनी दूसरी पत्नी के साथ रह रहा थी। रविवार को पवन ने संदिग्ध हालात में पत्नी के दुपट्टे के साथ पंखे  से लटक कर आत्महत्या कर ली। घटना के समय पर उसकी पत्नी बाज़ार गई हुई थी। जब वापस आई तो उस ने पति को लटकते देखा। उसने शोर डाल कर आसपास वालों को बुलाया और पवन को नीचे उतार कर अस्पताल में पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत ऐलान दिया।

जांच अधिकारी एएसआई मित्र राम ने बताया कि पवन की मौत के बाद दोनों पत्नियां एक-दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। पहली पत्नी ने पुलिस को एक सुसाइड नोट दिया है, उसका दावा है कि यह उसे घर में से मिला है। जिस में उसने दूसरी पत्नी के परिवार वालों पर परेशान करन के आरोप लगाऐ हैं। पुलिस का कहना है कि जिस सुसाइड नोट लिखा है, उस पर किसी के दस्तखत नहीं हैं। जबकि दूसरी पत्नी का आरोप है कि नोट पवन ने नहीं लिखा है। फिलहाल पुलिस दोनों औरतों के बयानों को लेकर जांच कर रही है। 

error: Content is protected !!