Right News

We Know, You Deserve the Truth…

पालमपुर में पति की पिटाई से महिला की मौत, पति के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का केस दायर

पति द्वारा पीटे जाने के बाद महिला की मौत हो गई। दोनों में किस बात को लेकर तकरार हुई यह अभी स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस ने पति के विरुद्ध गैर-इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर जांच आरंभ कर दी है। घटना पालमपुर के साथ लगते घुग्घर क्षेत्र में घटी। मृतका के चेहरे पर चोट के निशान पाए गए हैं। प्रवासी दंपति किराए के मकान में रह रहा था।

9 जून को की थी पत्नी की पिटाई

पुलिस के अनुसार 9 जून को पति द्वारा पत्नी की पिटाई की गई, जिसके पश्चात पत्नी का पालमपुर के एक निजी स्वास्थ्य संस्थान से उपचार चल रहा था।

पुलिस द्वारा जांच में सामने आया है कि पति-पत्नी के मध्य आमतौर पर लड़ाई-झगड़ा होता था तथा 9 जून को भी लड़ाई-झगड़े के पश्चात पति ने पत्नी को पीटा। शुक्रवार को महिला की तबीयत बिगड़ गई, जिस पर पति ने पड़ोसी से संपर्क साधा तथा एम्बुलैंस मंगवाने का आग्रह किया परंतु 25 वर्षीय महिला की मौत हो गई।

बिहार के चंपारण का रहने वाला है आरोपी

डीएसपी डॉ. अमित शर्मा ने भी घटनास्थल पर पहुंचकर सारी स्थिति की समीक्षा की। उन्होंने बताया कि पति के विरुद्ध भारतीय दंड संहिता की धारा 304 के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया गया है। आरोपी नगेंद्र कुमार बिहार के चंपारण का रहने वाला है जिसे गिरफ्तार कर लिया गया है। शनिवार को उसे न्यायालय में पेश किया जाएगा। उधर, फोरैंंसिक विशेषज्ञों ने भी घटनास्थल पर पहुंच कर साक्ष्य एकत्रित किए हैं।

दो मासूम बच्चों पर भारी पड़ी पारिवारिक कलह

पति-पत्नी के मध्य पारिवारिक कलह दो मासूम बच्चों पर भारी पड़ी है। बिहार से हिमाचल में आजीविका चलाने पहुंचा नगेंद्र कुमार पेंट आदि का कार्य करता है तथा लगभग एक महीना पहले ही किराए के कमरे में परिवार सहित यहां पहुंचा था। पुलिस के अनुसार पड़ोसी ने बताया कि दोनों पति-पत्नी के मध्य आमतौर पर तकरार होती रहती थी तथा यही तकरार 9 जून को भी हुई जो महिला की मौत का कारण बनी। डेढ़ तथा 3 वर्षीय दो बच्चों के सिर से मां का साया उठा है तो पिता जेल की सलाखों के पीछे चला गया है। ऐसे में घर से कोसों दूर दो नन्हे बच्चों के पालन-पोषण को लेकर यक्ष प्रश्न खड़ा हुआ है।

पुलिस ने दोनों बच्चों को धर्मशाला के ओपन शैल्टर में भेजा

पुलिस द्वारा इन दोनों बच्चों को धर्मशाला के ओपन शैल्टर में भेजा गया है, वहीं चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी से भी पुलिस ने संपर्क साधा है। चूंकि बच्चे अभी छोटे हैं। ऐसे में उन्हें चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी की निगरानी में भेजने का प्रयास किया जा रहा है। डीएसपी डॉ. अमित शर्मा ने बताया कि चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी से संपर्क साधा गया है तथा दोनों बच्चों के पालन-पोषण के लिए शिमला चाइल्ड वैल्फेयर कमेटी के निर्देश पर भेजा जाएगा।


Join 6,104 other subscribers

error: Content is protected !!