अमेरिका के विदेश मंत्री एंटोनी ब्लिंकन ने कहा है कि पूरी दुनिया में मानवाधिकारों का घोर हनन हो रहा है।

ब्लिंकन ने कहा कि मानवाधिकारों का सम्मान करने वाले देशों के नियमों पर आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था का समर्थन करने की अधिक संभावना है जो अमेरिका तथा उसके सहयोगियों ने बनाई है।

ब्लिंकन ने देशों के मानवाधिकार आकलन पर विदेश विभाग की वार्षिक रिपोर्ट जारी करते हुए मंगलवार को कहा, ‘‘मानवधिकारों की प्रवृत्ति गलत दिशा में आगे बढ़ रही है। हम दुनिया के प्रत्येक क्षेत्र में इसके सबूत देखते हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘हम शिनजियांग में उइगर और अन्य जातीय तथा धार्मिक अल्पसंख्यक समूहों के खिलाफ हो रहे जनसंहार के रूप में इसे देखते हैं।’’ साथ ही उन्होंने रूस, युगांडा और वेनेजुएला जैसे देशों में विपक्षी नेताओं, भ्रष्टाचार रोधी कार्यकर्ताओं, स्वतंत्र पत्रकारों पर हो रहे हमलों का भी जिक्र किया।

ब्लिंकन ने कहा कि अमेरिका इन घिनौने कृत्यों के दोषियों को जिम्मेदार ठहराने के लिए अपने सहयोगियों और साझेदारों के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध है।

उन्होंने कहा कि मानवाधिकारों की स्थिति कोविड-19 के कारण और खराब हो गई क्योंकि निरंकुश सरकारों ने इसका इस्तेमाल अपने आलोचकों को निशाना बनाने तथा मानवाधिकारों के हनन के लिए किया।

error: Content is protected !!