हिमाचल प्रदेश में कोरोनावायरस के चलते 50% सवारियों के साथ एचआरटीसी और निजी बसें चल रही थी। जिससे एचआरटीसी और निजी बस आपरेटरों को काफी घाटा उठाना पड़ रहा था। लेकिन एक महीने बाद सौ प्रतिशत सवारियों के साथ एचआरटीसी और निजी बसों के चलने से निगम को काफी हद तक राहत मिली है, इससे शहरी क्षेत्रों सहित ग्रामीण इलाकों में भी लोगों ने राहत की सांस ली है।

गौरतलब है कि 50 प्रतिशत सवारियों के साथ बसों का संचालन करने में निगम और बस ऑपरेटरों को परेशानी उठानी पड़ रही थी। लेकिन बसों में 50 फीसदी सीटें भर जाने के कारण बसें नहीं रुकने से लोगों को मुश्किल हो रही थी। तो वही दूसरी और कम बसें चलने से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को आवाजाही में असुविधा हो रही थी। सौ फीसदी सवारियों के साथ बसें चलने से लोगों को सुविधा मिलेगी।

error: Content is protected !!