पाकिस्तान में भीड़ द्वारा एक हिंदू मंदिर में तोड़फोड़ की गई है। यह घटना खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के कोहाट के करक जिले में बुधवार को हुई। जिला पुलिस अधिकारी इरफान मरवत ने कहा कि मंदिर के विस्तार कार्य का विरोध करते हुए भीड़ ने पुराने ढांचे के साथ-साथ नए निर्माण को ध्वस्त कर दिया। 

इस पूरे मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है। खैबर पख्तूनख्वा के मुख्यमंत्री महमूद खान ने मंदिर पर हमले को एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना करार दिया। उन्होंने मामले पर पुलिस से रिपोर्ट मांगी है और घटना में शामिल लोगों की तत्काल गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं।

हिंदू समुदाय के नेता पेशावर हारून सरबयाल ने कहा कि एक हिंदू धार्मिक नेता की समाधि मंदिर स्थल पर मौजूद है और देशभर के हिंदू परिवार हर गुरुवार को समाधि के दर्शन करते हैं। उन्होंने कहा कि इस घटना से हिंदू समुदाय की भावनाओं को ठेस पहुंची है। बता दें कि पाकिस्तान में हिंदू सबसे बड़ा अल्पसंख्यक समुदाय है। आधिकारिक अनुमानों के अनुसार, पाकिस्तान में 75 लाख हिंदू रहते हैं। हालांकि, समुदाय के अनुसार, देश में 90 लाख से अधिक हिंदू रह रहे हैं।

error: Content is protected !!