शिमला में छात्रों का रहना हुआ महंगा, संजौली छात्रावास की फीस में 1500 की वृद्धि

0
92

हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला के सेंटर ऑफ एक्सिलेंस संजौली कॉलेज में छात्रावास फीस बढ़ा दी है। छात्रावास फीस में 1500 की बढ़ोतरी की है। कॉलेज प्रशासन ने नई दरों को इसी सत्र से लागू भी कर दिया है।

छात्रावास सुविधा के लिए छात्रों को अब वार्षिक 10,700 रुपये की फीस चुकानी होगी। पहले यह फीस 9200 रुपये थी। पूर्व में कॉलेज प्रशासन ने शुल्क में 2300 रुपये की बढ़ोतरी करने का निर्णय लिया था लेकिन विरोध के बाद इसे कम करके 1500 कर दिया है। कॉलेज में वर्तमान में द्वितीय और तृतीय वर्ष के करीब 85 छात्र छात्रावासों में रह रहे हैं।

प्रथम वर्ष की मेरिट के आधार पर छात्रावास आवंटन की प्रक्रिया शुरू कर पहली सूची जारी कर दी है। कॉलेज के दो छात्रावासों में 140 छात्रों के ठहरने की व्यवस्था है। छात्रावास आवंटन में अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को प्राथमिकता दी है। सीटें बच जाने पर सामान्य वर्ग को सीटें आवंटित की जाती हैं। कॉलेज ने प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने वाले छात्रों के लिए छात्रावासों की आवंटन सूची जारी कर तीस अगस्त तक फीस जमा करवाने का समय दिया है। छात्रावास में रहने वाले छात्रों और एसएफआई की कॉलेज इकाई ने छात्रावास की फीस बढ़ाने का विरोध किया था। प्राचार्य को बढ़ाई गई दरों को कम करने को लेकर मांगपत्र भी सौंपा। इस दौरान प्राचार्य ने छात्रावास में रहने वाले छात्रों और संगठन नेताओं से कहा कि फीस बढ़ाना मजबूरी है।

दो किस्तों में जमा कर सकते हैं फीस
संजौली कॉलेज के प्राचार्य डॉ. सीबी मेहता ने कहा कि छात्रों को दो किस्तों में शुल्क जमा करवाने की ऑप्शन दी है। खर्चों को देखते हुए 2300 रुपये तक छात्रावास फीस बढ़ाने का निर्णय लिया था। इसे अब कम करके 1500 रुपये कर दिया है। छात्रों से पांच हजार की सिक्योरिटी तीन साल के लिए ली जाती है जिसे बाद में लौटा दिया जाता है।

आरकेएमवी ने जारी की आवंटन सूची
राजकीय कन्या महाविद्यालय (आरकेएमवी) ने सैनिक और इंदिरा गांधी जनजातीय छात्रावास की रिक्त सीटें आवंटित करने की सूची जारी कर दी है। इसमें तीस अगस्त तक फीस जमा करवाने का समय दिया है। सैनिक छात्रावास में 25 और जनजातीय छात्रावास में 37 सीटें आवंटित की गई हैं। आरकेएमवी में छात्रावासों में रहने वाली छात्राओं को वार्षिक 7,240 रुपये का शुल्क चुकाना होता है, इसमें 1500 रुपये सिक्योरिटी होती है। इसके अलावा 140 रुपये वार्षिक शुल्क देना पड़ता है। हर छात्रा को 560 रुपये मासिक फीस चुकानी होती है। कॉलेज की कार्यवाहक प्राचार्य डॉ. रुचि रमेश ने यह जानकारी दी।

Leave a Reply